Bus-Truck Drivers Strike: विस्तार से जानिए क्या है पूरा मामला क्या है? आओ जाने

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Bus-Truck Drivers Strike : – वर्तमान समय में एक ही खबर चारों तरफ फैली हुई है वह खबर यह है कि बस और ट्रक ड्राइवर सड़क पर उतर गए हैं। और उन्होंने वाहन चलाना बंद कर दिया है। ट्रक ड्राइवर जगह-जगह चक्का जाम कर रहे हैं।

यदि आपने यह खबर सुन ली है तो आपके अंदर यह सवाल अवश्य उठ रहा होगा। कि आखिरकार Bus-Truck Drivers Strike पर उतरने का मुख्य कारण क्या है। यदि आपके अंदर यह सवाल है। तो आप सही जगह पर आ चुके हो।

क्योंकि आज हम आपको इस पूरे मामले के बारे में बताने वाले हैं आर्टिकल को पढ़ने के बाद में आपके अंदर इस पूरे मामले को लेकर कोई भी सवाल नहीं बचाने वाला है‌।

और आप अपनी जिस इच्छा को लेकर आए हैं। वह इच्छा आपकी अवश्य पूरी होने वाली है। तो आई फिर ज्यादा देरी ना करते हुए इस पूरे मुद्दे को समझते हैं।

Bus-Truck Drivers Strike पर क्यों उतरे

जितने भी भारी वाहन के ड्राइवर है। वह वर्तमान समय पर हड़ताल पर है। इसकी मूल वजह यह है, क्योंकि वर्तमान समय में भारत के अंदर एक नया कानून लागू करने की तैयारी की जा रही थी। सरकार बहुत ही जल्द इस कानून को लागू करने वाली थी।

यह कानून बस ड्राइवर और ट्रक ड्राइवर( Bus-Truck Drivers Strike ) के संदर्भ में था, सरकार ने जो सजा निर्धारित करी थी, उस सजा को भुगतने के लिए ज्यादातर बस ड्राइवर और ट्रक ड्राइवर को करने के लिए तैयार नहीं है, क्योंकि वह सजा ही इतनी ज्यादा है।

जिससे कि एक आम आदमी का गुजरना काफी ज्यादा मुश्किल है। इस वजह के चलते बस ड्राइवर और ट्रक ड्राइवर सड़क पर उतर चुके हैं। और वह हड़ताल कर रहे हैं। आईए जानते हैं ऐसा कौन सा कानून है, जिसकी वजह से बस और ट्रक ड्राइवर सड़क पर उतरकर हड़ताल कर रहे हैं।

कौन से कानून से परेशान है ट्रक ड्राइवर

हाल ही में सरकार ने हिट एंड रन कानून को संसद में पेश किया था ।जैसे-जैसे यह बार ड्राइवर लोगों तक पहुंची।तो वैसे-वैसे ड्राइवर लोगों में इसका कानून को लेकर विरोध बढ़ता रहा। हिट एंड रन कानून यह कहता है।

कि यदि किसी भारी वाहन चालक से किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। और वह व्यक्ति उसे वहीं पर ही छोड़ कर चला जाता है।तो इस स्थिति में भारी वाहन चालक को 10 वर्ष का कठोर दंड दिया जाएगा। इतना ही नहीं भारी वाहन चालक को 10 लख रुपए का जुर्माना भी भुगतना होगा।

हालांकि अभी भारत सरकार ने इस कानून को भारत में लागू नहीं किया है। पर संसद में यह बिल पेश किया गया था। ड्राइवर लोग ( Bus-Truck Drivers Strike ) इसके विरोध पर उतर चुके हैं।

जिसकी वजह से सरकार इस कानून को अभी लागू नहीं करने वाली है। इस कानून के अंदर अब सरकार को जरूरी बदलाव करने होंगे इसके लिए सरकार की निरंतर ट्रक ड्राइवर संगठन से लगातार बात चल रही है।

ट्रक ड्राइवर का क्या है नजरिया कानून को लेकर

जो भी भारी वाहन चालक है। उन सभी का कहना है। कि जितने भी बड़े-बड़े एक्सीडेंट होते हैं। भारी वाहनों से उनमें से मात्र दो से तीन प्रतिशत एक्सीडेंट भारी वाहन चालक के ड्राइवर की गलती की वजह से होते हैं।

वरना ज्यादातर एक्सीडेंट दूसरे वाहन चालक की गलती की वजह से होते हैं। तो इसका अंजाम केवल भारी वाहन चालक को ही क्यों भुगतना पड़े। इसी के साथ में ड्राइवर लोगों का भी कहना है कि यदि कहीं एक्सीडेंट भी हो जाता है।

और यदि वह उसे व्यक्ति को बचाने के लिए वहां पर जाते हैं। तो उसे स्थिति में वहां पर भीड़ इकट्ठी हो जाती है। और वह भारी वाहन चालक की बात सुनने के लिए तैयार नहीं होती है। और वह उन्हें पीटने लग जाती है‌।

तो अब यहां पर सवाल यह होता है, कि यदि ड्राइवर उसे व्यक्ति को बचाने जाए। तो फिर उसकी जान की रक्षा कौन करेगा। इस स्थिति को समझते हुए ही ड्राइवर लोग एक्सीडेंट की जगह से भाग जाते हैं।

अब यदि ड्राइवर लोग व्यक्ति को बचाने जाएंगे तो सरकार तो बाद में सजा देगी। ड्राइवर को पहले जनता ही व्यक्ति को सपोर्ट पर मार देगी। ड्राइवर लोगों का यह कहना है। और यदि वह वहां से अपनी जान बचाकर निकल भी जाते हैं।

तो सरकार के इस कानून से वह नहीं बच पाएंगे। ज्यादातर ड्राइवर लोग इतना नहीं कमा पाते हैं। जो की 10 लाख रुपए तक का जुर्माना भर सके ड्राइवर लोगों का कहना है।

कि एक ड्राइवर की सैलरी ₹15000 से लेकर ₹25000 के बीच में होती है इससे ज्यादा कोई भी ड्राइवर नहीं कमाता है। तो आप खुद ही बताइए इतना कम कमाने वाला ड्राइवर कैसे 10 लाख रुपए तक का जुर्माना भरेगा। ऐसा मानना है ट्रक ड्राइवर का नए कानून को लेकर।

सरकार ने उठाया समझदारी भरा कदम

भारत सरकार ने व्यक्तियों का विरोध देखते हुए इस कानून को भी भारत में लागू करने से मना कर दिया है। और भारत सरकार ड्राइवर लोगों से अपील कर रही है। कि वह इस कानून का विरोध करना बंद कर दे।

ट्रक ड्राइवर संगठन से बात करने के बाद ही सरकार इस कानून को लागू करेगी। और जरूरी संशोधन भी करेगी। सरकार ड्राइवर लोगों से उनके कार्य पर लौट के लिए विनती कर रही है।

क्योंकि इनकी वजह से काफी ज्यादा हालत बिगड़ गए हैं पेट्रोल पंप पर पेट्रोल नहीं पहुंच पा रहा है।

जिसकी वजह से ज्यादातर व्यक्ति पेट्रोल नहीं भर पा रहे हैं। और वह कहीं भी आने जाने का कार्य नहीं कर पा रहे हैं। इसी के अलावा सब्जी मंदिरों में सब्जियां नहीं पहुंच पा रही है।

जिसकी वजह से आम जनता का जीवन काफी ज्यादा सुविधाओं में आ चुका है। यदि ड्राइवर लोग इस हड़ताल पर एक महीने बने रह जाते हैं।

तो भारत की काफी ज्यादा जनता इससे प्रभावित होने वाली है क्योंकि आप कल्पना कीजिए यदि समय पर पेट्रोल नहीं पहुंचेगा।तो फिर आप जितने भी वहां का उपयोग करते हो।

एक जगह से दूसरी जगह पर जाने के लिए वह सभी बंद हो जाएंगे लोगों तक खाने पीने के साधन पहुंचने बंद हो जाएंगे।

Sumeery :- इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद में अपनी जान लिया है कि आखिरकार बस और ट्रक ड्राइवर क्यों हड़ताल पर उतरे हुए हैं क्या मूल वजह हैं।

सरकार ने हाल ही में कौन सा नया कानून लागू करने की तैयारी करी है जिसकी वजह से ट्रक ड्राइवर इतना ज्यादा प्रदर्शन कर रहे हैं ।

आर्टिकल को पढ़ने से पहले आपके अंदर काफी सारे सवाल होंगे लेकिन अब आपको अपने सारे सवालों का जवाब मिल चुका होगा।

FAQs: Bus-Truck Drivers Strike

ट्रक ड्राइवर सड़क पर क्यों जाम लगा रहे हैं

ट्रक ड्राइवर सरकार के द्वारा लागू किए गए कानून का विरोध कर रहे हैं इसके लिए वह सड़कों पर जाम लगा रहे हैं

क्या भारत सरकार ने हिट एंड रन कानून लागू कर दिया है।

जी नहीं अभी भारत सरकार ने इस कानून को पूरे भारत में कहीं पर भी लागू नहीं किया है।

Leave a Comment

Ladli Bahan Yojana 2024: महिलाओ को 5 साल तक हर महीने 1000 रूपए Free Hindi Movies Download Web Sites 2023 9 से 12 तक Question Bank, Previous Year Paper एवं Topper Paper देखें ऑनलाइन Gruh Lakshmi Scheme 2023: Karnataka Govt Will Provide Rs. 2000/Month To Women Free Silai Machine Yojana 2023: सरकार द्वारा महिला को सिलाई मशीन