UPBOCW 2023: श्रमिक पंजीयन कार्ड बनाये [UP Labour Card]

3/5 - (1 vote)

आपने बड़े-बड़े पुल, सरकारी अस्पताल, लम्बी रोड हाईवे को बनाने वाले मजदूरों को देखा होगा , इन्हे ही UPBOCW Scheme के अंतर्गत इस प्रकार का रोजगार प्रदान किया जाता है एवं एक Shramik Panjian अथवा Labour Card प्रदान किया जाता है।

आज के इस लेख में हम आपको इन UPBOCW Worker की जानकारी, उनका अधिकार एवं लाभ की जानकारी प्रदान करेंगे।

साथ ही हम बताएँगे की यदि आप एक BOCW Contractor है अथवा आप स्वयं Shramik बनकर Infrastructure कार्य में जुड़कर रोजगार प्राप्त करने के साथ कई योजना का लाभ पाना चाहते है, तो आप क़िस्त तरह Labour Card बना सकते है।

लेख को अंत तक पढ़े, इससे आप UPBOCW 2023 की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Contents hide

UPBOCW 2023: उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड

उत्तरप्रदेश BOCW UP का फुल फॉर्म अंग्रेजी में बिल्डिंग एंड अदर कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर एजेंसी और हिंदी में उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड है।

भवन और निर्माण कार्य में लगे श्रमिकों को असंगठित श्रमिकों के रूप में वर्गीकृत किया जाता है जो खतरनाक परिस्थितियों में काम कर रहे हैं अस्थायी और अनियमित रोजगार असीमित काम के घंटे बुनियादी सुविधाओं और नर्सिंग आदि का अभाव है।

उनकी हालत बेहद कमजोर और दयनीय है। उचित कानूनी प्रावधानों की कमी के कारण कार्यस्थल पर दुर्घटनाओं पर सटीक जानकारी प्राप्त करना दायित्व निर्धारित करना और सुधारात्मक उपायों को लागू करना मुश्किल है।

इसलिए लोगों का मानना ​​है कि श्रमिकों की सुरक्षा कल्याण और सेवा की अन्य शर्तों को सुविधाजनक बनाने के लिए व्यापक केंद्रीय कानून की आवश्यकता है।

भारत सरकार ने निर्माण श्रमिकों और अन्य निर्माण श्रमिकों (रोजगार और सेवाओं की शर्तें) 1996 पर कानून अपनाया जिसका उद्देश्य श्रमिकों के स्वास्थ्य और कल्याण उपायों के साथ-साथ रोजगार और सेवाओं की शर्तों की सुरक्षा को सुविधाजनक बनाना है।

योजना का नामश्रमिक कार्ड योजना
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन / ऑफलाइन
स्टेटसACTIVE
पीडीऍफ़ फॉर्म डाउनलोडक्लिक हियर
ऑफिसियल वेबसाइटwww.upbocw.in

श्रम विभाग-स्थापना एवं कार्य

upbocw

श्रम मंत्रालय उत्तर प्रदेश सरकार के विभिन्न प्रशासनिक विभागों में से एक है। सरकारी स्तर पर इसका सर्वोच्च अधिकारी मुख्य सचिव (श्रम) होता है।

यह श्रम मंत्रालय, उत्तर प्रदेश के तहत, राज्य स्तर पर, श्रमिक युक्त संगठन के विभिन्न स्तरों पर अधिकारी और कर्मचारी राज्य के विभिन्न कारखानों, उद्योगों और नियोक्ताओं में श्रमिकों की समस्याओं को हल करने का काम करते हैं।

इस संगठन के मुखिया श्रम आयुक्त उत्तर प्रदेश हैं।

उ0प्र0 भवन एवं निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड की स्थापना :

  • 1996 का रोजगार और सेवा शर्तें विनियमन राज्य स्तर पर राज्य कल्याण बोर्डों के गठन का प्रावधान करता है।
  • बिल्डिंग एंड कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर बोर्ड का गठन इस अधिनियम 1996 [BOCW Act-1996] के तहत 2009 के नियम 256 के प्रावधानों के तहत किया गया था।
  • जिसमें मुख्य सचिव, श्रम एवं अन्य सदस्य अध्यक्ष के रूप में मौजूद हैं।

BOCW UP का उद्देश्य

देश में कमजोर एवं अशिक्षित मजदूर जो असंगठित वर्ग (Uncatogorised Sector) में गिने जाते है , उनका कई प्रकार से शोषण किया जाता है , इन सभी को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सीधा लाभ पहुंचाया गया है।

इस कार्य को राज्य सरकार श्रम मंत्रालय के सहायता से पूरी कर रही है। इस अभियान के अंतर्गत भवन एवं सनिर्माण के कार्यो में शामिल मजदूरों को जोड़ा गया है।

इस अभियान के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं द्वारा सीधे मजदूरों को आर्थिक सहायता का लाभ पहुंचाना है एवं योजना द्वारा इन मजदूरों के कार्य दशा में सुधार लाना साथ ही कार्य के गुणवत्ता को बढ़ाना उद्देश्य है।

UPBOCW Portal 2023: श्रमिक पंजीकरण पोर्टल

UP-BOCW श्रमिक विभाग उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रारम्भ किया गया एक ऑनलाइन पोर्टल है। इस पोर्टल पर राज्य के श्रमिक (मजदुर वर्ग) नागरिको के लिए सुविधाएं ऑनलाइन उपलब्ध की गयी है।

श्रमिकों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए सरकार विभिन्न कार्यक्रम चलाती है। हालांकि कई बार इन योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों तक नहीं पहुंच पाता है।

इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने श्रमिकों का पंजीकरण शुरू कर दिया है जो की इसी UP-BOCW पोर्टल द्वारा किया जा रहा है । इस प्रणाली के माध्यम से सभी राज्य कर्मचारियों को पंजीकृत किया जाता है।

ताकि वे सभी सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें। यह लेख आपको उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजिकरण के बारे में सारी जानकारी देगा।

इसलिए, यदि आप एक कर्मचारी हैं और आप सभी सरकारी प्रणालियों का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको UP-BOCW पर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

उत्तर प्रदेश श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करके मजदुर वर्ग के परिवारों को तुरंत बिना किसी अधिक समय खर्च किये उपलब्ध होता है।

BOCW UP इस पोर्टल पर विभिन्न कल्याणकारी सुविधाएं उपलब्ध है।

सरकार का मुख्य उद्देश्य है राज्य के असंगठित मजदूरों को सक्षम बनाना एवं उनको आर्थिक सहायता प्रदान कर जीवन के लिए हौसला बढ़ाना है।

राज्य के सभी मजदुर गरीब वर्ग को Labour Card ऑनलाइन प्राप्त कराना और सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाएं का लाभ प्रदान करना यही सरकार का मुख्य उद्देश्य. है।

up shram vibhag की श्रम मंत्रालय द्वारा राज्य सरकार UP-BOCW का कार्य पूर्ण किया जा रहा है।

इस लेख को पढ़कर आप यूपी कार्यकर्ता पंजीकरण प्रक्रिया ऑनलाइन, इस कार्यक्रम का उद्देश्य, लाभ, सुविधाएँ, पात्रता आदि के बारे में भी शिक्षित होंगे।

Note : यदि आप को इन उपर्युक्त योजना के अंतर्गत लाभ लेना है तो आप को श्रमिक पंजीकरण कर श्रमिक कार्ड बनाना होता है। 

UPBOCW Scheme Dashboard 2023

कुल सक्रिय श्रमिक (जो इंफ्रास्ट्रक्चर कार्य में जुड़े है)110.26 लाख
पंजीकृत श्रमिक7.17 लाख
कुल नवीनीकृत श्रमिक6.94 लाख
कुल आधार सत्यापित श्रमिक95.52 लाख
कुल स्वीकृत योजना12, 000 योजना
कुल अंतरित धनराशि356.56 करोड़ रूपए

UPBOCW Shramik Panjiyan Card [Labour Card]

UPBOCW श्रमिक कार्ड | श्रमिक पंजीयन कार्ड

श्रमिक कार्ड यह उत्तर प्रदेश के असंगठित क्षेत्र के मजदूर जो निर्माण कार्य से जुड़े है , उन्हें upbocw.in पर श्रमिक पंजीकरण कर प्राप्त कराकर लाभ पहुँचाना है।

उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के तहत यदि कोई मजदूर जिसने 90 दिवस तक निर्माण कार्य में शामिल है , तो वह व्यक्ति कार्ड बनवा सकता है।

श्रमिक पंजीयन कार्ड के अंतर्गत ऐसे श्रमिक आते हैं जो कोई भी निर्माण कार्य जैसे राजगीर, मिस्त्री,लोहार, आवर्धक, बुनकर, चित्रकार आदि करते हैं।

यदि आप के पास यह कार्ड है, या आपने अपना श्रमिक पंजीकरण कराया है , तो आप निम्न योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त कर सकते है , जिसकी विस्तृत जानकारी उपलब्ध राखी है।

  • छात्र योग्यता पुरस्कार योजना
  • संत रविदास शैक्षिक सहायता कार्यक्रम
  • गर्भावस्था एवं प्रसव के लिए सहायता योजना शिशु एवं बालिकाएं
  • शौचालय सहायता योजना
  • चिकित्सा सुविधा योजना
  • महात्मा गांधी पेंशन योजना
  • अंतिम संस्कार सहायता योजना
  • गंभीर बीमारी देखभाल योजना
  • चिकित्सा सुविधा योजना
  • सौर ऊर्जा राहत योजना
  • लड़कियों के लिए विवाह सब्सिडी योजना
  • बोर्डिंग स्कूल योजना
  • कौशल विकास तकनीकी उन्नति और प्रमाणन योजना
  • विकलांगता मृत्यु सहायता और विकलांगता पेंशन सहायता कार्यक्रम
  • पंडित दीनदयाल उपाध्याय चेतना योजना
  • आपदा राहत योजना
श्रमिक कार्ड यह ई-श्रम कार्ड से भिन्न है। e-sharam card पूरे देश के राज्य में शामिल होती है , जबकि shramik card भिन्न-भिन्न राज्य में अलग होती है। 

यूपी श्रमिक पंजीयन कार्ड 2023 [श्रमिक कार्ड]

उत्तर प्रदेश श्रमिक पंजीयन कार्ड उत्तर प्रदेश के सभी श्रमिक वर्ग परिवारों के लिए है। इस कार्ड को प्राप्त करने के लिए श्रमिकों को आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

अपना आवेदन ऑनलाइन जमा करने के बाद, आपका रोजगार कार्ड तैयार हो जाएगा। ऑनलाइन आवेदन मैन्युअल रूप से या जन सेवा केंद्र के माध्यम से भी जमा किया जा सकता है।

कर्मचारियों को ऑनलाइन आवेदन करने के लिए किसी सरकारी कार्यालय में जाने की जरूरत नहीं होगी।

आप अपने घर के आराम से रोजगार के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। राज्य की योजनाओं के तहत श्रमिक परिवारों को इस कार्ड के माध्यम से लाभ प्रदान किया जाएगा।

श्रमिकों को कौन पंजीकृत कर सकता है?

  • निर्माण मजदूर
  • कुआं खोदने वाले
  • छत वाला
  • बढ़ई
  • राज मिस्त्री
  • लोहार
  • नलसाज
  • सड़क बनाने वाले
  • विद्युतीय
  • चित्रकार
  • हैमर लीडर
  • मोज़ेक पॉलिश
  • रॉक ब्रेकर
  • साइट गार्ड
  • पत्थर क्रशर
  • मुनीम
  • बांध प्रबंधक
  • विंडो ग्रिल्स और डोर मैन्युफैक्चरर्स
  • भट्टों में इसके निर्माता
  • सीमेंट, राजमिस्त्री
  • चुनाव कार्यकर्ता

बीते वर्ष कोविद 19 के कारन कई लोगो को आर्थिक नुकसान हुआ है , एवं इस से कई असंगठित मजदूरों को अत्यधिक नुकसान हुआ था , अतः उनको सहायता प्रदान करने के लिए , उत्तर प्रदेश सरकार ने श्रमिक पंजीकरण के द्वारा आपदा सहायता योजना के अंतर्गत मजदूरों को लाभ पहुँचाया है।

आप को अवश्य ही इसके अंतर्गत पंजीकरण करना चाहिए। यदि आप एक पाठक है , तो आप इस लेख के जरिये जानकारी प्राप्त कर किसी आवश्यक व्यक्ति की मदद कर सकते है।

श्रमिक पंजिकरण के लिए दस्तावेज (पात्रता)

पिछले 12 महीनों में कम से कम 90 दिनों तक निर्माण श्रमिक के रूप में काम करने वाले श्रमिक।
काम के लिए पंजीकरण करते समय, कार्य कार्ड केवल परिवार के मुखिया के नाम पर जारी किया जाता है।

  • आवेदक का उत्तर प्रदेश में स्थायी निवास होना चाहिए।
  • आवेदक की आयु 18 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • सदस्यता पर्ची
  • वोटर कार्ड
  • भामाशाह कार्ड
  • बैंक विवरण
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट तस्वीर
  • परिवार के सभी सदस्यों का पहचान पत्र

UPBOCW 2023 श्रमिक कार्ड (Labour Card) कैसे बनाये?

उत्तर प्रदेश श्रम पंजीकरण 2023 का मुख्य लक्ष्य उन सभी लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है जो अपनी आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए काम करते हैं और किसी भी निर्माण क्षेत्र में जीविकोपार्जन और काम करते हैं

सरल भाषा में यदि यदि आप UP Infrastructure Development Work (पुल, सड़क, ट्रैक आदि ) के कार्य में एक श्रमिक के तौर पर जुड़ना चाहते है, तो आपको UPBOCW Shramik Panjikaran कराकर एक Labour Card बनाना होगा।

आप निचे दिए गए प्रक्रिया को अपना कर अपना Registration कर सकते है:

  • सर्वप्रथम आपको UPBOCW के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आप इस लिंक पर क्लिक कर सीधे रजिस्ट्रेशन वाले भाग पर पहुँच सकते है।
up bocw registration
  • अब आप के सामने एक श्रमिक पंजीयन का आवेदन/संसोधन फॉर्म खुल आएगा।
  • आप को इसमें पूछे गए निम्न जानकारी को भरना होगा।
    • आधार कार्ड संख्या डाले
    • अपना मंडल चुने
    • एवं अपना जनपद चुने
    • अपना मोबाईल न0 डाले
  • अब आपको पर क्लिक करना है।
  • यह करने के बाद आप के सामने एक नया पेज खुल आएगा।
  • यहाँ आपको एक ऑनलाइन आवेदन पत्र मिलता है।
up labour form
  • Form में पूँछी गयी जानकारी को आप हिंदी में भर सकते है।
  • आप जब सभी जानकारी सही-सही भर ले, तो आपको अंत में सबमिट कर दें।
  • आपको एक Registration Number प्राप्त होगा।
  • इसका उपयोग आप Status एवं Labour Card Download करने में करते है।
  • इसे नोट कर लें।

ऑफलाइन श्रम पंजीकरण प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको अपने जिले के श्रम विभाग में जाना होगा।
  • इसके बाद, आपको वहां से Punjikaran form प्राप्त करना होगा।
  • इसके बाद आपको Register Form में मांगी गई सभी जानकारियों को ध्यान से भरना होगा।
  • एवं इसके बाद रजिस्ट्रेशन फॉर्म के साथ सभी जरूरी दस्तावेज अटैच करने होंगे।
  • इसके बाद, आपको इस फॉर्म को श्रम मंत्रालय को जमा करना होगा।
  • इस तरह आप Registration कर पाएंगे।

UP Shramik Panjian Status Check 2023

  • सबसे पहले, आपको उत्तर प्रदेश ऑफिसियल वेबसाइट और अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण आयोगों की आधिकारिक वेबसाइट[UP-BOCW] तक पहुंचने की आवश्यकता है।
  • इससे आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको स्कीम ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको योजना आवेदन स्थिति Shramik Panjiyan Statuts पर क्लिक करना होगा।
  • दिखाए गए फोटो अनुसार –
  • इससे आपके सामने एक New Page खुल जाएगा।
  • आपको इस पेज पर अपनी योजना आवेदन संख्या और पंजीकरण संख्या दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको Submit Option पर क्लिक करना होगा।
  • आवेदन की स्थिति कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित होती है।

UP Shramik Panjian Labour Card Download करें

यदि आप ने अपना UPBOCW Registration पूरा कर लिया है तथा आपके Status भी पूरा बता रहा है, तो आप आसानी से अपना लेबर कार्ड डाउनलोड कर सकते है।

  • सबसे पहले आप श्रमिक पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाए।
  • होमपेज पर आपको Shramik Certificate डाउनलोड करने का ऑप्शन मिलेगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा।
  • इस पेज पर आपको इनमे से एक नंबर दर्ज करना होगा:
    • आधार कार्ड
    • पंजीकरण संख्या
  • अब आपको कॅप्टचा कोड दर्ज कर Search पर क्लिक करना होगा।
  • आपको आपका Labour Card का पीडीऍफ़ प्राप्त होगा।
  • आप डाउनलोड पर क्लिक कर डाउनलोड करें।
  • नजदीकी स्टेशनरी पर जाकर प्रिंट निकलकर कार्ड का स्वरुप दें एवं उपयोग करें।

पंजीकरण रिन्यू करने की प्रक्रिया [Renew Labour Card]

यदि आप इसी कार्य में अपने रोजगार को जारी रखना चाहते है, तो आपको प्रत्येक 90 दिन में अपना UP Labour Card Renew करना चाहिए।

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश लेबर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर, आपको “पंजीकरण नवीनीकरण” विकल्प का चयन करना होगा।
  • जब आप आवेदन पर क्लिक करते है, तो नया पेज ओपन होता है।
  • यहाँ आपको पंजीयन संख्या एवं कॅप्टचा कोड दर्ज कर सर्च पर क्लिक करना है।
  • आपका Shramik Panjian Card होगा।
  • आपको अपना नया एड्रेस, मोबाइल नंबर एवं अन्य पूछी गयी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • आपका कार्ड रेन्यू हो जाएगा।

UPBOCW Schemes 2023 के अंतर्गत योजना

UP Labour Registration

उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों के लिए विभिन्न कार्यक्रम चलाती है जिसके माध्यम से श्रमिक आत्मनिर्भर और सशक्त बनते हैं।

प्रदेश में एक कार्यकर्ता का पंजीकरण आपको सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए संचालित कई प्रणालियों तक पहुंच प्रदान करता है।

इन प्रणालियों की सेवाओं का उपयोग करने में सक्षम होने के लिए, कर्मचारियों को पंजीकृत होना चाहिए। श्रमिकों और उनके लाभों पर लागू होने वाली कुछ योजनाएं इस प्रकार हैं।

यहाँ हम आपको UP-BOCW के अंतर्गत जुड़े सभी योजना की पात्रता, लाभ एवं आवश्यक अभिलेख की जानकारी प्रदान करेंगे।

Scheme#1: आपदा सहायता योजना

पात्रता:

  • अद्यतन पंजीकृत श्रमिक।
  • योजना को कोविड -19 को ध्यान में रखकर विकसित किया गया था।

आवश्यक दस्तावेज:

  • पूरी तरह से कम कागज की रूपरेखा तैयार करें।(पूर्णतः ऑनलाइन दस्तावेज )
  • किसी आवेदन पत्र की आवश्यकता नहीं है।
  • डेटाबेस में उपलब्ध आधार संख्या और बैंक खाते का विवरण।

लाभ:

  • केंद्र / राज्य सरकार या निदेशक मंडल द्वारा निर्धारित वार्षिक / अर्ध-वार्षिक / त्रैमासिक / मासिक के रूप में नवीनीकृत पंजीकृत निर्माण श्रमिक को 1,000 / – की एकमुश्त राशि का भुगतान बैंक में किया जाएगा। सामग्री सहायता के रूप में खाते।

Scheme#2: आवास सहायता योजना

पात्र:

  • पंजीकृत श्रमिकों को अद्यतन करें।
  • श्रमिकों या उनके परिवार के सदस्यों के पास पक्के मकान नहीं हैं और उनके पास घर बनाने के लिए पर्याप्त जमीन है।
  • आवेदक या उसके परिवार के किसी सदस्य को केंद्र/राज्य सरकार के किसी विभाग/कार्यक्रम के तहत आवास कार्यक्रम का कोई लाभ नहीं मिला है।
  • आवेदक की पंजीकरण आयु 05 वर्ष है, और अधिकतम आयु 55 वर्ष है।
  • जीवन भर एक बार लाभों का भुगतान करें।

आवश्यक दस्तावेज:

  • आवेदन पत्र की 03 प्रतियां।
  • पंजीकरण प्रमाणपत्र का नवीनीकरण करें
  • आवेदक का स्थायी निवास परमिट
  • आवेदक की उपलब्ध भूमि का साक्ष्य
  • आवासीय सुविधाओं के बिना और पक्के मकानों के बिना परिवारों के लिए कोई अन्य योजना
  • आधार कार्ड और बैंक पासबुक की कॉपी

लाभ

  • इस योजना के तहत निर्धारित मानकों पर पहुंचने पर नए मकान के निर्माण या खरीद के लिए 1,00,000/- रुपये का भुगतान किया जाएगा।
  • मौजूदा मकानों की मरम्मत के लिए 15,000/- रुपये का अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • एक ही समय में एक ही लाभार्थी को दो लाभों का भुगतान नहीं किया जा सकता है।
  • कार्यक्रम प्रधानमंत्री आवास योजना के मानकों को पूरा करता है।

Scheme#3: शौचालय सहायता योजना

पात्र:

  • पंजीकृत कर्मचारियों को अपडेट करें
  • ऐसे पंजीकृत निर्माण श्रमिक जिनके पास अपना आवास है लेकिन शौचालय नहीं है और उन्हें किसी अन्य सरकारी योजना के तहत ऐसा लाभ नहीं मिला है।
  • परिवार को “एक इकाई” माना जाएगा।
  • प्राप्तकर्ता को आधार के साथ पंजीकृत होना चाहिए और एक राष्ट्रीयकृत बैंक में सीबीएस शाखा के साथ एक खाता होना चाहिए।

दस्तावेज:

  • पंजीकरण प्रमाणपत्र का नवीनीकरण
  • बिना शौचालय सुविधा वाले परिवारों और किसी अन्य योजना के तहत पक्के मकानों का विवरण
  • आधार कार्ड एवं बैंक पासबुक की एक प्रति जिला परिषद पदाधिकारी द्वारा क्रियान्वित की जायेगी।

लाभ:

  • आवेदन करते समय 02 समान किश्तों में 12,000 रुपये का भुगतान किया जा सकता है। पहले चरण में पुरस्कार के लिए अग्रिम भुगतान के रूप में 6,000 रुपये का भुगतान , और दूसरे चरण का भुगतान जिला सरकार के अधिकारियों द्वारा निर्माण पूरा होने और शौचालयों का उपयोग शुरू होने के बाद।
  • जिला परिषद पदाधिकारियों के बेसलाइन सर्वे के साथ पंजीकृत श्रमिकों की सूची का मिलान कर कार्यकर्ताओं का चयन किया जाता है।
  • भुगतान जिला सरकार के अधिकारी द्वारा लाभार्थी के बैंक खाते में स्थानांतरित किया जाएगा।

Scheme#4: कन्या विवाह अनुदान योजना

पात्रता:

  • इसका योगदान नवीनतम पंजीकृत कार्यकर्ता है।
  • न्यूनतम पंजीकरण समय पूरा होने के लिए 100 दिन है।
  • लड़कियों की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और दूल्हे की न्यूनतम आयु 21 वर्ष होनी चाहिए।
  • उपरोक्त बात महिला पंजीकृत कामगारों के विवाहों पर भी लागू होती है।

आवश्यक दस्तावेज:

  • नामांकन का प्रमाण पत्र
  • अद्यतन योगदान का प्रमाण
  • शादी के निमंत्रण का नोटरीकृत पत्र
  • वर और वधू के लिए आयु का प्रमाण
  • घोषणा-पत्र
  • परिवार रजिस्टर की कॉपी

लाभ:

  • स्वजातीय विवाह में प्रत्येक बेटी के लिए अनुदान राशि 55,000 रुपये और पंजीकृत कार्यकर्ता की अविवाहित बेटी/पंजीकृत मासिक कार्यकर्ता की शादी के संबंध में अंतरजातीय विवाह के मामले में 61,000 रुपये है।
  • कम से कम 11 जोड़ो के सामूहिक विवाह के मामले में 65,000 रुपये की राशि और प्रति जीवनसाथी 7,000 रुपये का संगठन खर्च भी बोर्ड द्वारा वहन किया जाएगा।
  • साथ ही दूल्हा-दुल्हन की ड्रेस के लिए 5,000 रुपये की डाउन पेमेंट।
  • विधवा और कानूनी विवाह – तलाक के मामलों में भुगतान की जाने वाली राशि सामूहिक विवाह के बराबर होती है।

Scheme#5: सौर ऊर्जा सहायता योजना

पात्रता:

  • आवेदक को निदेशक मंडल में पंजीकृत एक कार्यकर्ता होना चाहिए, और उसका योगदान अद्यतित होना चाहिए।
  • यह आवेदक के परिवार के एक व्यक्ति को केवल एक बार दिया जाता है।
  • उन आवेदकों को वरीयता दी जाएगी जिनके बच्चे कक्षा 9-12 में पढ़ रहे हैं।

आवश्यक दस्तावेज:

  • पंजीकरण प्रमाण पत्र
  • नवीकृत जमा अंशदान के साक्ष्य
  • बिजली कनेक्शन न होने की घोषणा
  • 250 श्रमिकों का अतिरिक्त दान ऑनलाइन जमा किया जा सकता है
  • अपनी वांछित प्राथमिकताएं रिकॉर्ड करें।
  • आपूर्ति सीमित होने के कारण इसे वरिष्ठता क्रम में स्थापित किया जाएगा।

लाभ:

  • पंजीकृत बिल्डर के स्थायी निवास स्थान पर स्थापित।
  • योजना में 2 एलईडी लैंप, 1 डीसी डेस्क पंखा, 1 सौर पैनल, चार्जिंग नियंत्रक, 1 मोबाइल चार्जर स्थापित किया गया है।
  • वितरित इकाई के लिए वारंटी 5 वर्ष है।
  • बोर्ड स्तर पर संयंत्र चयन/निविदा प्रक्रिया

Scheme#6: गंभीर बीमारी सहायता योजना

पात्रता:

  • पंजीकृत श्रमिकों को अद्यतन करें।
  • वे श्रमिक जो प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना केअंतराल के अंतर्गत लाभ के पात्र नहीं हैं।
  • इस प्रणाली में पंजीकृत कर्मचारी, उसकी पत्नी, उसकी अविवाहित बेटियाँ और 21 वर्ष से कम उम्र के उसके बेटे शामिल हैं।

आवश्यक दस्तावेज:

  • पंजीकरण प्रमाणपत्र अपडेट करें
  • रोग रिकॉर्ड
  • निर्धारित प्रारूप में चिकित्सा प्रमाण पत्र
  • दवाओं की खरीद के लिए मूल चालान
  • अगर 21 साल से कम उम्र की अविवाहित बेटी या बेटा है, तो समर्थन का प्रमाण पत्र प्रदान किया जाना चाहिए।

लाभ:

  • पूर्ण प्रतिपूर्ति वही राशि है जो आयुष्मान भारत योजना के तहत सरकारी/स्वायत्त अस्पतालों या SACHIS नामित अस्पतालों में ली जाने वाली फीस के बराबर है।
  • यदि अस्पताल चिकित्सा/सर्जिकल अनुमान देता है, तो आप अस्पताल को अग्रिम भुगतान भी कर सकते हैं।
  • कोई निश्चित अधिकतम राशि नहीं है।

Scheme#7: आवासीय विद्यालय योजना

पात्रता:

  • इस योजना का उद्देश्य 06-14 वर्ष की आयु के पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के बच्चों को प्राथमिक और जूनियर हाई स्कूल और माध्यमिक शिक्षा की सुविधा प्रदान करके गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना है।
  • 06 से 14 वर्ष की आयु के पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के ऐसे सभी पुत्र/पुत्रियां आवास विद्यालय में प्रवेश के लिए पात्र हैं।

आवश्यक अभिलेख:

  • पंजीकरण प्रमाण पत्र की प्रति
  • योगदान के लिए जमा प्रमाणपत्र अपडेट करें।

लाभ:

  • पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के 06 से 14 वर्ष की आयु के सभी पुत्रों/पुत्रियों को निःशुल्क आवास एवं शिक्षा प्रदान की जाती है।
  • मुफ्त आवास, भोजन और अन्य सुविधाएं प्रदान करें।
  • राज्य भर के 12 जिलों में काम करते हैं।
  • शुरुआत के बाद अटल आवायीय विद्यालयों का विलय हो गया।

Scheme#8: मेधावी छात्र पुरस्कार योजना

पात्रता:

  • सभी पंजीकृत कर्मचारी जिनके बेटे और बेटियां कक्षा 5 से 9 में 55% या उससे अधिक और कक्षा 10 से 12 में 50% या उससे अधिक अंक प्राप्त करते हैं, पात्र हैं।
  • ITI (व्यावसायिक प्रशिक्षण) / BA / B.Com / B.Sc., MA / M.Com / M.Sc. LLB है। उसके पास 60% से अधिक अंक हैं और उसे इंजीनियरिंग / मेडिकल डिग्री प्राप्त करने के लिए पॉलिटेक्निक डिप्लोमा और राष्ट्रीय या राज्य स्तर की प्रवेश परीक्षा के बाद प्रवेश दिया जाता है।

आवश्यक दस्तावेज:

  • पंजीकृत कर्मचारियों को अपडेट करें
  • पिछले वर्ष के परीक्षा स्कोरकार्ड की प्रमाणित फोटोकॉपी और परीक्षा उत्तीर्ण करने का प्रमाण।
  • वर्तमान समय में अगली कक्षा में नामांकन के बारे में प्रधानाध्यापक से एक प्रमाण पत्र।
  • बैंक खाते की साफ फोटोकॉपी।
  • तकनीकी पाठ्यक्रम में प्रशिक्षण के मामले में नामांकन का प्रमाण पत्र और भुगतान की पुष्टि।

लाभ:

  • नोटिस में तालिका के अनुसार निहित प्रीमियम की राशि। ग्रेड(कक्षा) 6 से।
  • यदि आप वर्तमान वर्ग में फेल हो जाते हैं, तो दूसरी किस्त की राशि का भुगतान नहीं किया जाएगा।

Scheme#9: मातृत्व,शिशु एवं बालिका हितलाभ योजना

पात्रता:

  • माँ और बच्चे के लाभ कर्मचारी के पहले दो भागों तक सीमित हैं।
  • मातृत्व लाभ केवल जन्म देने वाले संस्थान के कर्मचारियों को दिया जाता है।
  • पहली बालिका कार्यक्रम का लाभ और दूसरा बच्चा भी एक बच्चा है।
  • निःसंतान पति/पत्नी द्वारा कानूनी रूप से गोद लिया गया भी गोद लिया जाता है।

आवश्यक अभिलेख:

  • सरकारी अस्पताल में संस्थागत प्रसव / गर्भपात / नसबंदी के लिए पंजीकरण का अद्यतन प्रमाण पत्र
  • ऑनलाइन जन्म प्रमाण पत्र
  • कानूनी गोदनामा
  • परिवार रजिस्ट्री आधार कार्ड और बैंकनोट की फोटोकॉपी

लाभ:

  • मातृत्व लाभ कार्यक्रम के साथ पंजीकृत पुरुष श्रमिकों को 6,000 रुपये एकमुश्त भुगतान है।
  • कामकाजी महिला के लिए बच्चे के जन्म के मामले में, न्यूनतम मजदूरी के बराबर राशि 3 महीने और रु। 1,000/- का भुगतान मेडिकल बोनस के रूप में किया जाएगा।
  • न्यूनतम मजदूरी महिला प्रसव के कारण गर्भावस्था की समाप्ति के मामले में 06 सप्ताह और नसबंदी के मामले में 2 सप्ताह के बराबर है।
  • यदि बच्चा बेटा है, तो एकमुश्त 20,000 रुपये और बेटी के मामले में प्रत्येक बच्चे के लिए 25,000 रुपये का भुगतान करना होगा।
  • 5- 25,000 रुपये की सावधि जमा यदि परिवार में पहली संतान लड़की है या दूसरी संतान बालिका है या कानूनी रूप से गोद लिए गए बच्चे के मामले में। विकलांग बच्चे के जन्म के मामले में 50,000 रुपये की सावधि जमा।
  • लाभ की राशि का भुगतान तभी किया जाएगा जब बच्चा 18 वर्ष की आयु तक अविवाहित रहे। शर्त पूरी नहीं करने पर कोई राशि नहीं दी जाएगी।

Scheme#10: निर्माण कामगार मृत्यु एवं विकलांगता सहायता योजना

पात्रता:

  • पंजीकृत कर्मचारियों को अपडेट करें
  • पेंशन प्राप्त करने वाले कर्मचारी कर्मचारी राज्य बीमा निगम से पेंशन के लिए पात्र नहीं हैं।
  • कुल स्थायी विकलांगता 50% या अधिक है।

आवश्यक दस्तावेज:

  • अद्यतन के पंजीकरण का प्रमाण।
  • मृत्यु प्रमाण पत्र, आकस्मिक मृत्यु की प्रारंभिक जानकारी, शव परीक्षण की फोटोकॉपी
  • निःशक्तता की स्थिति में मुख्य चिकित्सक द्वारा जारी निःशक्तता/विकलांगता प्रमाण पत्र की प्रति, प्रारंभिक सूचना रिपोर्ट की प्रति।

लाभ:

  • 5,00,000 रुपये/- यदि कार्यस्थल या अन्य स्थानों पर दुर्घटना होती है और मृत्यु हो जाती है। उनमें से, खाते में 100,000 का भुगतान किया जाना चाहिए, और 400,000 की शेष राशि का भुगतान विदेशी मुद्रा जमा के माध्यम से किया जा सकता है।
  • यदि कार्यस्थल पर दुर्घटना के कारण 3 मिलियन रुपये की कुल स्थायी विकलांगता होती है, और यदि स्थायी आंशिक विकलांगता होती है, तो भुगतान 2 मिलियन(लाख) रुपये होगा।
  • कार्य के लिए स्थायी अक्षमता या सामान्य मृत्यु की स्थिति में, कार्यस्थल के अलावा, 02 लाख की राशि का भुगतान किया जाता है। कार्य के लिए अस्थायी आंशिक अक्षमता की स्थिति में 1 लाख रुपये का भुगतान किया जाता है।
  • अपंजीकृत कर्मचारी की कार्यस्थल पर दुर्घटनावश मृत्यु होने पर 50,000 रुपये की वित्तीय सहायता।
  • 1500-1250-1000 रुपये की आजीवन पेंशन तक दुर्घटना या बीमारी के परिणामस्वरूप पूर्ण विकलांगता।

Scheme#11: कौशल विकास तकनीकी योजना

पात्रता:

  • आवेदक स्वयं या उसके पति/पत्नी/पिता एक पंजीकृत बिल्डर हैं, और उनका योगदान अब तक खाते में किया गया है।
  • यदि कोई पंजीकृत कर्मचारी स्वयं प्रशिक्षण लेना चाहता है तो उसकी आयु 18 से 35 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • आश्रितों के संबंध में उनकी पत्नी की आयु सीमा स्थापित नहीं की गई है।
  • अविवाहित बेटी के लिए कोई ऊपरी आयु सीमा नहीं है। आश्रित पुत्र की अधिकतम आयु 21 वर्ष है।

वर्तमान में इस योजना प्रसिक्षण कौशल विकास मिशन द्वारा किया जा रहा है।

आवश्यक दस्तावेज:

  • पंजीकरण प्रमाण पत्र की एक प्रति
  • अद्यतन अंशदान जमा करने का साक्ष्य
  • विशेषज्ञता से संबंधित एक आवेदन पत्र जिसमें आप प्रशिक्षण प्राप्त करना चाहते हैं।

लाभ:

  • यूपी स्किल डेवलपमेंट मिशन द्वारा मुफ्त प्रशिक्षण दिया जाता है।
  • यदि पंजीकृत कर्मचारी स्वयं प्रशिक्षण ले रहा है तो अकुशल श्रमिक को न्यूनतम मजदूरी के बराबर राशि की प्रतिपूर्ति की जाएगी।
  • ट्रेनिंग के बाद प्लेसमेंट टेस्ट पास करना होगा।
  • सबसे पहले, आपको UP Labour की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जब आप आधिकारिक वेबसाइट पर पहुंचेंगे तो आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  • यह होम पेज संपर्क विकल्प प्रदान करता है। आपको इस Option पर क्लिक करना है।
  • अगले पृष्ठ पर पूर्ण संपर्क विवरण देखने के लिए विकल्प पर क्लिक करें।

Apply UPBOCW Scheme 2023 Online

यदि आपने अपना लेबर कार्ड बना लिया है एवं आप इन योजना का लाभ लेना चाहते है, तो आप तुरंत इसके अंतर्गत आवेदन कर सकते है।

इसके लिए आप इन प्रक्रिया को पूरा कर सकते है:

  • सबसे पहले आप उत्तर प्रदेश लेबर कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाए।
  • होम पेज पर आपको योजना आवेदन लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद एक फॉर्म ओपन होगा।
  • इस फॉर्म में आपको निम्न जानकारी प्रदान करनी होगी।
    • अपना पंजीकृत मंडल चुने
    • योजना को चुने
    • अपना पंजीकृत आधार कार्ड संख्या डाले*
    • अपना पंजीकृत मोबाईल न0 डाले*
  • अब आप आवेदन पत्र खोले पर क्लिक करें।
  • आपके सामने योजना से संबंधित एक फॉर्म ओपन होगा।
  • आप फॉर्म में पूछी सभी जानकारी को भरें एवं दस्तावेज को अपलोड करें।
  • फॉर्म को सबमिट करें।
  • अब आप अपने योजना की स्तिथि भी जांच सकते है।

UP-BOCW Related FAQ

UPBOCW Full Form क्या है?

UPBOCW Full Form यूपी बिल्डिंग एंड अदर कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर एजेंसी है। इसके अंतर्गत श्रमिकों की सामाजिक और आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए विभिन्न कार्यक्रम व योजनाए चलायी जाती है।

श्रमिक पंजीयन कार्ड Labour Card क्या है?

जब आप राज्य के Infrastructure Development के कार्य में एक मजदूर (श्रमिक) की तरह जुड़ते है, तो आपको BOCW Scheme के अंतर्गत कई योजना के साथ भी जोड़ा जाता है एवं आपकी पहचान के लिए एक श्रमिक पंजीयन कार्ड Labour Card प्रदान किया जाता है।

Leave a Comment

पाएं सभी सरकारी योजनाओं की जानकारी सबसे पहले

X
MP E Uparjan Portal 2022-23: किसानो के लिए एक उपयोगी पोर्टल अपंग कर्ज योजना 2022: उद्योग & स्वयंरोजगार 50 हजार रुपए का कर्ज Free Silai Machine Yojana 2022: सरकार द्वारा महिला को सिलाई मशीन Gujarat Election 2022: Useful Insights You Should Know Ambedkar DBT Voucher Yojana 2022-23: विद्यार्थीओ को पहुँच रहा लाभ