Bagyalaxmi yojana up | यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2022 | भाग्यलक्ष्मी योजना,आवेदन फॉर्म

Bhagya lakshmi 2022 | यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2022 | भाग्यलक्ष्मी योजना | bhagyalaxmi scheme bhagya laxmi yojana | bhagya laxmi yojana online apply

दोस्तो आज के इस आर्टिकल में जानेगे, Bagyalaxmi yojana up, Uttar Pradesh bhagyalakshmi Yojana, लड़कियों के लिए सरकारी योजना 2022 up ये सभी keyword कवर किये जायेंगे और देश में महिला सशक्तिकरण को बढ़ाने तथा उन्हें स्वावलम्बी बनाने के लिए भारत सरकार कई प्रोत्साहन योजना लती है। इसी पहल में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भी यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का प्रारम्भ किया गया है।

Uttar Pradesh bhagyalakshmi Yojana के तहत  आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की बेटियों को 50,000 रुपए की धन राशि प्रदान की जाती है। इसके साथ ही बेटी की मां को भी 51,00 रुपया की धनराशि प्रदान की जाती है।

इस लेख के माध्यम से आपको यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना फॉर्म (ऑफलाइन) भरने की प्रक्रिया से अवगत कराया जाएगा। इसके अलावा आप इस लेख के माध्यम से यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं एवं पात्रता से संबंधित जानकारी भी प्राप्त कर सकेंगे।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना को महिलाओं के सशक्तिकरण, शिक्षा आदि को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रारम्भ किया गया। यह योजना 31 मार्च 2006 को प्रारम्भ की गयी।

इस योजना के तहत लाभार्थी का बचत खाता बैंक अकाउंट होना चाहिए क्योकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली यह धनराशि लाभार्थी के बैंक अकाउंट में जमा की जाएगी।

योजना के तहत राज्य के सभी परिवार जिनकी आय कम है उन परिवारों के बेटिओं एवं माता को लाभ प्राप्त होता है।

इस यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना  के तहत जब लड़की कक्षा छः में प्रवेश करती है, तो माता-पिता को रु 3,000 , कक्षा आठवीं में रु 5,000, कक्षा दशवीं में रु 7,000 एवं बारहवीं कक्षा में रु 8,000 तक की रकम प्रदान की जाती है।

इस प्रकार लड़की के 21 वर्ष की आयु होने तक लड़की के माता-पिता को 2 लाख रुपये का कुल धनराशि वित्तीय सहायता के रूप में प्रदान की जाती है।

ये भी पढ़े:

सुकन्या समृद्धि योजना

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

प्रधान मंत्री योजना लिस्ट 2022

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2022-23

योजना का नामयूपी भाग्य लक्ष्मी योजना
प्रारम्भ किया गया मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा
प्रारम्भ 31 मार्च 2006
विभागमहिला और बाल विकास विभाग
लाभार्थीराज्य की लड़किया(कम आय परिवार वाले )
उद्देश्यलड़कियों को आर्थिक सहायता प्रदान करना/सशक्त बनाना /स्वावलम्बी बनाना
ऑफिसियल वेबसाइटmahilakalyan.up.nic.in

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना: उद्देश्य

देश में लड़किओं/महिलाओं के लिए बाल विवाह , शिक्षा को बढ़ाना न देना , घर-गाँव से बाहर न जाना , आदि अनेक समस्याओं का उन्मूलन आवश्यक है।

देश में सभी राज्य महिला शिक्षा , स्वालम्बन एवं सशक्तिकरण को बढ़ावा देते हुए कई योजना एवं सुरक्षा सेवा बना रखी है।

इसी लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भी उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना को भी कई उद्देश्य से प्रारम्भ किया गया है।

  • लड़कियों/महिला शिक्षा दर बढ़ाना
  • बालिका के जन्म से उनके शिक्षा के लिए राशि उपलब्ध कराना
  • कम आय के परिवार को बालिका के शिक्षा खर्च के भार को कम करना
  • इनका सुरक्षा एवं सशक्तिकरण करना
  • समाज में स्वावलम्बन बनाना

यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना: लाभ

सभी योजनाएं जन कल्याण के उद्देश्य से प्रारम्भ किये जाते है। जिनका लाभ नागरिको को पहुँच सके। इसी प्रकार यह योजना भी आर्थिक रूप से कम आय वाले गरीब परिवारों को लाभ पहुंचता है।

  • योजना का लाभ राज्य के आर्थिकरूप गरीब परिवार की बेटियों एवं BPL को प्रदान किया जायेगा ।
  • यूपी भाग्य लक्ष्मी योजना के तहत परिवार में बेटी के जन्म होने पर में रु 50,000 की धनराशि और माँ को भी रु 5,100 की आर्थिक सहायता सम्बंधित बैंक खाता जमा की जाती है।
  • इसके आलावा शिक्षा के दरम्यान भी वर्षांत लाभकारी राशि प्रदान की जाती है।
वर्ग /कक्षा योजना अंतर्गत प्राप्त राशि
छः रु 3,000
आठ रु 5,000
दश रु 7,000
बारह रु 8,000
  • साथ ही जब लड़की 21 वर्ष की होती है , तो माता-पिता को रु २ लाख की धनराशि प्रदान किया जाता है।
  • योजना के अंतरगत परिवार के दो बालिकाओं को लैह दिया जाता है।
  • इस योजना के धन राशि से इनका शिक्षा दर बढ़ता है।
  • वे आदिक सशक्त बनती है।
  • योजना से परिवार का लड़की के प्रति अत्यधि खर्च घटता है।
  • लड़की के रोजगार पाने की सम्भावना शिक्षा से बढ़ा दी जाती है।

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के पात्रता

योजना के अंतर्गत आपको लाभ लेना हो तो , परिवार के लिए निम्न पात्रता का पालन करना होगा।

  • माता-पिता को उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना आवश्यक है।
  • परिवार की वार्षिक आय 2 लाख से कम होनी चाहिए।
  • योजना के अंतरगत नामांकन बेटी के जन्म के एक वर्ष के अंदर होना आवश्यक है।
  • बेटी का विवाह 18 वर्ष से पहले न किया जाना चाहिए।
  • बालिका का स्वास्थ्य विभाग (Health Dept) से रोग प्रतिरक्षी करना आवश्यक है।
  • परिवार में दो बालिकाओं को ही इसका लाभ प्राप्त हो सकता है।
  • बालिका का शिक्षा सरकारी विधालयों द्वारा होना आवश्यक है।
  • BPL परिवारों में जन्म लेने वाली सभी बालिकाएँ इस योजना के तहत लाभ लेने के लिए पात्र हैं।(31 मार्च 2006 के बाद)

Uttar Pradesh Bhagya Laxmi Yojana 2022 के दस्तावेज़

  • माता पिता का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बालिका का जन्म प्रमाणपत्र
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर(आधार से जुड़ा हो )
  • पासपोर्ट साइज फोटो(माता)

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना में आवेदन कैसे करे?

mahilakalyan.up.nic.in form download

  • यदि आप इस योजना का लाभ लेना चाहते है, तो आप को इसके लिए आवेदन पत्र Application Form की आवश्यकता पद सकती है।
  • आप यह फॉर्म जहां बालिका का जन्म हुआ है, उसी अस्पताल से भी पा सकते है।
  • आवदेन की प्रक्रिया अभी ऑनलाइन उपलब्ध नहीं है अतः आप को सरकारी कार्यालयों , नजदीकी आंगनवाड़ी में ही आवेदन करने की आवश्यकता है।
  • यहाँ हमने आपके लिए यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन फॉर्म उपलब्ध करा दिया है। एवं आवेदन की ऑफलाइन प्रक्रिया का निर्देश भी साझा कर दिया है।
  • सर्वप्रथम महिला एवं बल विकास विभाग के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • यहाँ वेबसाइट से आपको यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के  को डाउनलोड करना होगा।)
यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना
  • PDF को डाउनलोड करने के बाद आपको इसका एक प्रिंट निकलना होगा।
  • इसमें पूछी सभी जानकारी को भरना होगा।
  • साथ ही आप को इसके साथ आवश्यक दस्तावेज भी जोड़ने होंगे।
  • आवेदन आपको नज़दीकी आंगनवाड़ी केंद्र या अपने नज़दीकी महिला कल्याण विभाग के कार्यालय में भी करना होगा।
  • सम्बंधित कर्मचारी द्वारा आपका आवेदन कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।

संपर्क करे

चूँकि है यह योजना महिला एवं बल विकास योजना के अंतर्गत आती है , अतः आप इससे से जुड़े उलझनों को यहां से संपर्क कर पता कर सकते है।

  • सबसे पहले आपको उत्तर प्रदेश महिला एवं बाल विकास के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • होम पेज पर आपको संपर्क करे का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना
  • आपके स्क्रीन पर एक कांटेक्ट पेज खुल आएगा।
  • आप किसी एक ऑप्शन पर क्लिक कर दिए गए संपर्क पर बात कर सकते है।

अन्य उत्तर प्रदेश की महिला कल्याण योजना

हिंसा से पीड़ित महिलाओं के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने वर्ष २०१५ में लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोष का प्रारम्भ किया है।

महिला सम्मान कोष का उद्देश्य किसी भी तरह की पीड़ित राज्य की महिलाओं एवं युवतियों को हर तरह की मदद/सुविधा उपलब्ध कराना है।

इस कोष के द्वारा किसी भी हिंसा से पीड़ित महिलाओं के इलाज एवं पुनर्वास के लिए 3-10 लाख रुपये तक की मदद दी जाती है।

साथ ही इस कोष मदद के तहत उनके पुनर्वास एवं जरूरत हो तो साथ ही शिक्षा एवं आजीविका के लिए भी सहायता उपलब्ध कराई जाती है।

अधिक जानकारी के लिए यहाँ विजिट करें : http://msk.upsdc.gov.in/homepage/listofgos.aspx

FAQs: Uttar Pradesh bhagya lakshmi Yojana

बेटियों के लिए सरकारी योजना (up) कौन सी है?

बेटियों के लिए सबसे अच्छी योजना bhagya lakshmi Yojana है क्योकि आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों की बेटियों को 50,000 रुपए की धन राशि प्रदान की जाती है। इसके साथ ही बेटी की मां को भी 51,00 रुपया की धनराशि प्रदान की जाती है।

क्या डाकघर में बालिकाओं के लिए कोई योजना है?

हाँ आप sukanya samridhi yojana या bhagya laxmi yojana के साथ जुड़ सकते है |

Leave a Comment

error: Content is protected !!
YouTube