Bihar Fasal Sahayata Yojana 2022: आवेदन ऑनलाइन करें

Rate this post

Bihar Fasal Sahayat Bima Yojana Registration | Bihar FSY Scheme 2022 | Rabi Kharif Fund

प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानों को कई बार नुकसान उठाना पड़ता है। नतीजतन, राज्य के किसानों को आर्थिक तनाव का सामना भी करना पड़ता है। इसी समस्या के समाधान के लिए बिहार सरकार ने बिहार राज्य फसल सहायता योजना लाया गया है ।

आज हम इस लेख के माध्यम से इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं उदाहरण के लिए, बिहार में फसल समर्थन योजना क्या है? इसके फायदे, उद्देश्य, विशेषताएं, योग्यता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया, आदि।

इसलिए दोस्तों यदि आप बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2022 से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आल हिंदी योजना.इन आपको इस लेख को अंत तक पढ़ने की सलाह देता है।

Bihar Fasal Bima Yojana 2022

बिहार में किसानों द्वारा उगाई जाने वाली फसलों को बाढ़, सूखा आदि प्राकृतिक आपदाओं से बचाने के लिए Bihar Fasal Sahayata Yojana शुरू की गई थी। योजना के तहत, प्राकृतिक आपदाओं से नुकसान होने पर ही किसानों को वित्तीय सहायता प्राप्त होगी।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत, किसानों को उनकी फसल की वास्तविक उपज में 20% तक की कमी होने पर, और नुकसान होने पर ₹7,500 प्रति हेक्टेयर प्रदान किया जाएगा। 20% से अधिक है, तो ₹10,000 प्रति हेक्टेयर प्रदान किया जाएगा।

Bihar Rajya Fasal Sahayata Schme की धनराशि सीधे किसानों के बैंक खातों में हस्तांतरित की जाएगी। इस योजना के अनुसार, किसानों के पास बैंक खाता होना चाहिए और बैंक खाते को अंतर्निहित कार्ड से लिंक करना चाहिए।

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2022 का उद्देश्य

बिहार में जिन किसानों को बाढ़, सूखे और प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों को नुकसान हुआ है, उनके लिए राज्य सरकार को किसानों को भविष्य में खेती के लिए प्रोत्साहित करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करनी चाहिए।

प्राकृतिक मौसम के कारण फसल के नुकसान का सामना कर रहे लाखों किसानों के लिए Bihar Rajya Sahayata Yojana 2022 के लाभ से किसान आत्मनिर्भर और सशक्त बनें। इसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए राज्य सरकार ने यह योजन बिहार में शुरू किया गया है।

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2022 List

बिहार राज्य फसल योजना लिस्ट 2021-22 की जानकारी आपको ऑनलाइन आधिकारिक वेबसाइट पर प्राप्त हो सकती है। यह लिस्ट रबी एवं खरीफ फसल के लिए बतायी गयी है। Fasal Sahayata Yojana List 2022 में आपको निम्न जानकारी प्राप्त होगी।

  • कुल आवेदन
  • रैयत कृषक के आवेदन
  • गैर रैयत कृषक के आवेदन
  • रेयत एवं गैर रैयत कृषक के आवेदन
  • रबी फसल के उपज के लिए आवेदन
  • खरीफ फसल के उपज के लिए आवेदन

बिहार राज्य फसल सहायता योजना (रबी-2021-22) list

निबंधनआवेदन-संख्या
कुल आवेदन1294600
रैयत कृषक240482
गैर रैयत कृषक1039979
रैयत एवं गैर रैयत कृषक14139
गेहूँ के लिए आवेदन1218256
मक्का के लिए आवेदन464237
चना के लिए आवेदन503934
मसूर के लिए आवेदन640150
अरहर के लिए आवेदन193516
राई के लिए आवेदन485244
ईख के लिए आवेदन22760
प्याज के लिए आवेदन161642
आलू के लिए आवेदन342870

बिहार राज्य फसल सहायता योजना (खरीफ- 2021) list

निबंधनआवेदन-संख्या
कुल आवेदन1566432
रैयत कृषक356317
गैर रैयत कृषक1187637
रैयत एवं गैर रैयत कृषक22478
धान के लिए आवेदन1494745
मक्का के लिए आवेदन650133
सोयाबीन के लिए आवेदन50295

Fasal Sahayata Yojana Highlights

योजना का नामबिहार राज्य फसल सहायता योजना
विभागबिहार सहकारिता विभाग
लाभार्थीराज्य के किसान
उद्देश्यकिसान की आत्मनिर्भरता बढ़ाना / फसल नुकसान पर सहायता प्रदान करना
सहायता राशि 7500 से 10,000
योजना का प्रकारराज्य सरकार की योजना
आधिकारिक वेबसाइट      pacsonline.bih.nic.in

योजना के अंतर्गत भुगतान होने वाली राशि [न्यूज़ अपडेट]

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के द्वारा योजना के अंतर्गत प्रदेश के सत्तर हजार किसानों के खाते में 13 सितंबर 2021 को फसल सहायता योजना की लाभार्थी राशि भेजी गयी थी।

वह सभी किसान जो रबी फसल के उत्पादन में नुकसान उठाया करते थे उनको इस योजना के माध्यम से अब राहत प्राप्त हो रही है।

वह किसान जिन्होंने वर्ष 2020-21 में अपने रबी फसल पर नुकसान उठाया है उनको बिहार सरकार के सहकारी विभाग द्वारा नुकसान भरपाई की प्रक्रिया में सहायता प्रदान करना आरंभ कर दिया गया है।

इस बार सरकार द्वारा रैयत एवं गैर रैयत दोनों तरह के पात्र किसानों को Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana का लाभ प्रदान किया जाएगा।

राज्य के सभी किसानों में लगभग इस योजना के अंतर्गत कुल 226 करोड रुपए की लाभार्थी राशि बांटी जायेगी अर्ताथ लाभ प्रदान कराया जाएगा।

सरकार द्वारा अब तक 218 करोड़ 40 लाख रुपए का भुगतान किया जा चुका है। यह राशि पिछले वर्ष खरीफ मौसम में हुए नुकसान की भरपाई के लिए प्रदान की गई थी।

रबी फसल के लिए फसल सहायता राशि का किया गया भुगतान [न्यूज़ अपडेट]

रबी फसल की सहायता राशि के रूप में अब तक लगभग पांच लाख किसानों को लाभ की राशि प्रदान की जा चुकी है। खरीफ मौसम के लिए बिहार राज्य के मुख्यतः 34 जिले फसल सहायता योजना के लिए चुने गए है।

इन सभी जिलों के 16 लाख से ज्यादा किसानों ने निबंधन एवं पंजीकरण किया था। लेकिन जांच के बाद यह संख्या कम हो गई थी इसलिए जांच के बाद केवल योजना के लिए पात्र पाए जाने वाले किसानों को ही लाभ की राशि का भुगतान किया जाएगा।

निबंधन के बाद सभी किसानों की जांच एवं भुगतान की प्रक्रिया जल्द पूर्ण कर दी जाती है। इस योजना के माध्यम से फसल की कुल उपज के 1% से 20% तक क्षति होने पर प्रति हेक्टेयर ₹7000 की सहायता राशि किसानों को प्रदान की जाती है।

यदि क्षति 20% से अधिक हो जाती है तो इस स्थिति में अनुदान की राशि ₹10000 प्रति हेक्टेयर सहायता की जाती है। अधिकतम 2 हेक्टेयर तक के लिए ही इस योजना के अंतर्गत अनुदान प्राप्त किया जा सकता है।

बिहार फसल सहायता योजना निबंधन

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत 2020-21 की रबी फसल के लिए निबंधन शुरू हो गए हैं। 3 दिसंबर 2020 को सहकारिता विभाग ने निबंधन करवाने की अधिसूचना जारी कर दी थी।

इस योजना के अंतर्गत किसानों को किसी प्रकार के Bima Premium भरने की आवश्यकता नहीं है। फसल के नुकसान की भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी।

वह सभी किसान जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें आधिकारिक वेबसाइट pacsonline.bih.nic.in पर जाकर केवल ऑनलाइन आवेदन करवाना होगा।

योजना का निबंधन गेहूं मक्का राई सरसों गन्ना प्याज और आलू जैसी फसलों के नुकसान की भरपाई के लिए किया जाता है। सरकार अलग-अलग समय में अलग-अलग फसल रिकॉर्डिंग की पेशकश करती है।

मार्च-अप्रैल 2022 को किसानों के खाते में किया जाएगा भुगतान

सरकार द्वारा 15 मार्च 2022 को यह निर्धारित किया गया तह कि Bihar Fasal Bima Yojana के अंतर्गत किसान को कितना मुआवजा प्रदान किया जाएगा। इसके पश्चात मार्च-अप्रैल में DBT डायरेक्ट बेनिफिशर ट्रांसफर के माध्यम से किसानों के बैंक अकाउंट में भुगतान किया जाएगा।

केवल उन्हीं किसान को सहायता प्राप्त होगा जिन्होंने निबंधन करा लिया है। इस 2021-22 के लिए केवल सोयाबीन, धान, मक्का आदि खरीफ फसल उत्पादन करने वाले किसानों के लिए आवेदन प्रदान किये। मक्का के लिए पूरा राज्य के किसान आवेदन करवा सकते हैं।

लेकिन सोयाबीन की खेती के लिए खगड़िया, बेगूसराय और समस्तीपुर जिले के किसान ही आवेदन कर सकते हैं (News)। इसके अलावा धान के निबंधन के लिए बिहार के 527 प्रखंडों के किसान पात्र होंगे।

फसल सहायता योजना में शामिल फसल

राज्य के 38 जिलों में पंचायत स्तर पर गेहूं और मक्का का प्रसंस्करण किया जाता है। इसके अलावा जिला स्तर पर चना, मसूर दाल, राई, सरसों, गन्ना, प्याज और आलू की अधिसूचना जारी कर दी गई है.

चने की फसल खराब होने पर राज्य के 17 जिलों को मुआवजा और मसूर की फसल खराब होने पर 35 जिलों को मुआवजा दिया जाएगा।

अरहर दाल के फसल के नुकसान के लिए 22 जिले में सहायता, गन्ना नुकसान के लिए 16 जिले, राज्य भर के जिलों को राई, सरसों का नुकसान होने पर , 14 जिलों में प्याज की फसल के लिए और 15 जिलों में आलू की फसल को नुकसान होने पर सहायता प्रदान की जायेगी।

यदि नुकसान 20% से कम है, तो मुआवजे की दर ₹7500 प्रति हेक्टेयर है। इस बिहार राज्य फसल सहायता योजना के तहत लाभ प्रत्येक किसान अधिकतम 2 हेक्टेयर तक ले सकता है।

यदि नुकसान 20 प्रतिशत से अधिक है, तो उसे ₹10,000 प्रति हेक्टेयर की दर से मुआवजा दिया जाएगा।

Bihar Fasal Bima Yojana Application Form

योजना के तहत, राज्य में किसानों को फसल नुकसान के कारण सहायता प्राप्त होने वाली राशि के लिए किसी भी प्रकार का प्रीमियम नहीं चुकाना पड़ता है। बिहार में ज्यादातर लोग कृषि में काम करते हैं, जो चावल से लेकर तेल फसलों तक सब कुछ उगाते हैं।

Bihar Fasal Bima Yojana 2022 के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानो को खरीब की फसल तथा रबी की फसल के मौसम में ऑनलाइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना होता है।

जो इच्छुक लाभार्थी बिहार राज्य फसल सहायता योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन आधिकारिक वेबसाइट पर जा कर आवेदन कर सकते है।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2022 के दस्तावेज़ एवं पात्रता

  • आवेदन करने वाला लाभार्थी बिहार का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • यह योजना उसी किसान को अनुमति देती है जिसकी फसल प्राकृतिक आपदाओं या मौसम से नष्ट हो गई है।
  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक भी आवश्यक है
  • कृषि भूमि दस्तावेज
  • मोबाइल फोन नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • रेयत कृषक  के लिए
    • भू-स्वामित्व प्रमाण पत्र
    • स्वघोषणा प्रमाण पत्र
  • गैर रेयत कृषक के लिए
    • स्व- घोषणा प्रमाण पत्र

बिहार राज्य फसल सहायता योजना आवेदन 2022

इस योजना के तहत यदि आप ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, ये आप इसे आसानी से आवेदन कर सकते हैं और आप निचे दर्शाये तरीकों को फॉलो कर यह कर सकते है।

नोट:

  • फोटो (50 केबी से कम होना चाहिए)
  • आईडी कार्ड (भारत के चुनाव आयोग द्वारा मान्यता प्राप्त)
  • 400KB से कम और पीडीएफ प्रारूप में होना चाहिए।
  • बैंक पासबुक के पहले पृष्ठ की प्रति (400KB से कम PDF प्रारूप में होना चाहिए
  • हाउसिंग सर्टिफिकेट होना चाहिए (400KB से कम और PDF फॉर्मेट में होना चाहिए)

Bihar Fasal Sahayata Yojana Online Registration

बिहार फसल सहायता योजना आवेदन
  • सबसे पहले आपको बिहार राज्य फसल सहायता योजन के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर आपको बिहार राज्य फसल योजना हेतु आवेदन ऑप्शन पर क्लीक करना होगा। नया पेज खुलेगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन (नया पंजीकरण) का विकल्प दिखेगा। इस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • आपको एक नोटिस प्राप्त होगी : आपके पास आधार कार्ड जो मोबाइल नंबर से लिंक है तो हाँ पर क्लिक करें अन्यथा कर अपने नजदीकी CSC Center पर आवेदन के लिए जाएँ।
  • तो आप हाँ पर क्लिक कर आगे प्रक्रिया में बढ़ें।
  • आप अपना आधार कार्ड नंबर पूर्ण करें आपका आवेदन पूरी हो जायेगी।

Bihar Fasal Sahayata Yojana Help Desk

इस लेख के माध्यम से, हमने बिहार फसल सहायता योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की है। यदि आपको लगातार कोई समस्या आती रहती है, तो आप अपनी समस्या के समाधान के लिए हेल्पलाइन नंबर या ईमेल पर संपर्क कर सकते हैं।

हेल्पलाइन नंबर और ईमेल आईडी नीचे हैं।

Leave a Comment

पाएं सभी सरकारी योजनाओं की जानकारी सबसे पहले

X
MP Vimarsh Portal: 9 से 12 तक प्रश्न बैंक (फ्री एग्जाम स्टडी मटेरियल) MP E Uparjan Portal 2022-23: किसानो के लिए एक उपयोगी पोर्टल अपंग कर्ज योजना 2022: उद्योग & स्वयंरोजगार 50 हजार रुपए का कर्ज Free Silai Machine Yojana 2022: सरकार द्वारा महिला को सिलाई मशीन Gujarat Election 2022: Useful Insights You Should Know