गन्ना पर्ची कैसे देखें 2022 : E-Ganna App, Calendar एवं Ganna Parchi

Sugar price in Uttar Pradesh 2021-22 | गन्ना समर्थन मूल्य उत्तर प्रदेश | कैबिनेट ब्रीफ | caneup.in 2020 21

जैसा कि आप जानते है , उत्तर प्रदेश देश का गन्ना उत्पादक का केंद्र है। अतः उत्तर प्रदेश बाजार में प्रति किलो गन्ना कीमत का भी महत्व है। जैसा कि आप जानते है – उत्तर प्रदेश देश का गन्ना उत्पादक का केंद्र है। उत्तर प्रदेश में 135.64 मिलियन टन गन्ने का उत्पादन होता है।

सरकार ने अक्टूबर से अगले सितंबर तक चलने वाले 2021-22 सीजन के लिए मिलों द्वारा खरीदे गए गन्ने के लिए कीमत बढ़ा दिया है।यहाँ हमने गन्ना समर्थन मूल्य उत्तर प्रदेश 2021-22 के विषय में पूरी जानकारी दिया है।

गन्ना समर्थन मूल्य क्या है ?

FRP Uttar Pradesh

यह समर्थन एक प्रकार की भारतीय किसानो को समर्थन करती अर्ताथ लाभकारी मूल्य है।समर्थन मूल्य अथवा न्यूनतम समर्थन मूल्य वह मूल्य है जिसमे सरकार किसानो के लिए एक लाभकारी न्यूनतम मूल्य प्रदान करती है।

इसके अंतर्गत सरकार किसानो से उनकी फैसले खरीदती है , एवं इसके बदले फसल के न्यूनतम कीमत पर कम से कम १.५ गुना समर्थन मूल्य देती है। इसे MSP- Minimum Support Price भी कहा जाता है।

गन्ने की फसल के लिए ‘ उचित और लाभकारी मूल्य ‘ सिफारिस की जाती है जिसे Fair and Remunerative Price- FRP भी कहा जाता है। जबकि अन्य 22 अधिदिष्ट फसलों (Mandated Crops) के लिये ‘न्यूनतम समर्थन मूल्य’ (MSP) सिफारिस किया जाता है।

कृषि लागत और मूल्य आयोग (CACP) प्रत्येक वर्ष FRP की सिफारिश करता है। सभी चीनी मिलों (sugar miles) को इसी FRP कीमत पर किसानो से गन्ने की फसल खरीदनी होती है। अर्थात यदि FRP दर बढ़ती है तो गन्ना किसानो को अपने फसल उत्पादन से लाभ पहुँचता है।

केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा गन्ने का लाभकारी मूल्य (FRP ) बढ़कर 290 रु प्रति क्विंटल कर दिया गया है , जिससे गन्ना किसान काफी अधिक खुश है।

गन्ने के FRP के बढ़ने से लाभ

  • गन्ना किसान का लाभ लाभकारी मूल्य FRP के आधार पर ही होता है।
  • कवीड-19 के कारण सभी को आर्थिक नुकसान पहुंचा है।
  • परन्तु केंद्र मंत्रिमंडल के FRP के बढ़ाने से किसानो को लाभ पहुँच रहा है।
यूपी गन्ना पर्ची कैलेंडर

गन्ना पर्ची कैसे देखेंGanna Parchi-Calendar 22 ऑनलाइन देखे यहाँ पर

  • पहले अपनी गन्ना विभाग की वेबसाइट पर किसानों को जारी होने वाली पर्ची से जुड़ी जानकारी दे रखी है एप्प के माध्यम से जानने के लिए ऐप्प डाउनलोड कर पा सकेंगे |
  • सबसे पहले जान लेते है गन्ना पर्ची देखने की प्रक्रिया के बारे में ।
  • eGanna App या www.caneup.in की वेबसाइट पर जाना होगा |
  • किसानों का पूरा कैलेंडर उनके मोबाइल में Enter करना होगा।
  • किसान को केवल उनके सट्टे से जुड़ी जानकारी ही दी जाएगी।
  • भुगतान के संबंध में कोई जानकारी किसानों को नहीं दी जाएगी।
  • इस एप को मोबाइल में Play Store से डाउनलोड किया जा सकता है।
  • डाउनलोड होने के बाद किसान अपने जिले व चीनी मिल को चयनित करके अपने नाम से कोई भी जानकारी ले सकते हैं।

FRP दर के बढ़ने से गन्ना किसानों को निम्न लाभ पहुंचे

  • FRP दर 275 रु क्विंटल से बढ़कर 290 रु क्विंटल कर दिया गया है।
  • 5 करोड़ गन्ना किसानो एवं उनके आश्रितों को सीधा लाभ
  • चीनी मीलों से संबंधित 5 लाख सहायक-श्रमिकों को सीधा लाभ
  • सत्र 2020-21 में ;
    • 91 हजार करोड़ रु का गन्ना चीनी मीलों ने ख़रीदा।
    • लगभग 2,976 लाख टन गन्ने मीलों ने ख़रीदा।
    • 86,238 करोड़ रु गन्ना बकाए का हुआ भुगतान।
    • अब तक 55 लाख चीनी का निर्यात हुआ।
  • सत्र 202122 तक ;
    • लागग 3,088 लाख टन गन्ना चीन मिलें खरीद सकते है।

योगी आदित्यनाथ जी ने उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानो के लिए एक बड़ा बयान दिया।

उत्तर प्रदेश सरकार ने गन्ना समर्थन मूल्य उत्तर प्रदेश 350 रु प्रति क्विंटल कर दिया है।

25th August 2021 Cabinet Briefing

यूनियन मिनिस्टर पियूष गोयल के अनुसार ,

  • नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 290 रु प्रति क्विंटल गन्ना समर्थन मूल्य की सिफारिस की जा सकती है।
  • यह न्यूनतम लाभकारी मूल्य 10% रिकवरी पर आधारित होगा।
  • जब रिकवरी दर 10 प्रतिसत से अधिक हो जाता है , तो उसका proportionate हर पॉइंट 1 % बढ़ाने के लिए अर्ताथ 2.90 रु प्रति क्विंटल और दिया जाता है।
  • न्यूनतम 9.50 प्रतिसत रिकवरी वाले किसानो को रु 275 प्रति क्विंटल पर रोका गया है।
  • सभी देश भर में फसल रिकवरी की दर टेक्नोलॉजी के उपयोग से बढ़ी है।

Export Statics after Increasing FRP of Sugarcane

  • पिछले वर्ष 2020-21 के दरम्यान लगभग 70 लाख टन गन्ने export के contracts हुए है।
  • जिसमे 55 lakh already एक्सपोर्ट हो चुके है एवं 15 लाख पाइप लाइन में है।
  • इथेनॉल के द्वारा पेट्रोल में ब्लेंडिंग की जाती है , जिससे देश के पुरे देश के कुल गन्ना किसानो के लिए प्रति वर्ष 40 हजार करोड़ तक का फायदा पहुँचता है।

उपभोक्ता एवं किसानो पर ध्यान

हमें अधिक महंगे चीनी प्राप्त न हो एवं किसानो को भी समय दर समय जल्द भुगतान मिले इस पर भी सरकार ने संतुलन बनाना।

भारत सरकार के अनुसार सभी किसानो को एवं गन्ना किसानो को प्रति वर्ष अधिक लाभ हो रहा है।

Welcome to the Official Web Site of Government of Uttar Pradesh

E Ganna Mobile App Download करे ऑनलाइन

E-ganna app and caneup.in portal se ganna parchi calendar kaise dekhe ऑनलाइन

  • गन्ना पर्ची, बेसिक कोटे की जानकारी के लिए पक्का कैलेंडर दिया जाता है।
  • अगर कैलेंडर खो जाए या नष्ट हो जाए तो किसानों को परेशानी उठानी होती है।
  • इस समस्या से निजात दिलाने के लिए इंटरनेट की सुविधाओं से जोड़ा जा रहा है।
  • पहले भी किसानों को पर्ची की जानकारी विभाग की Website से मिल जाती थी।
  • लेकिन अब किसानों के लिए विभाग ने e ganna app गन्ना एप शुरू किया है।

टोल फ्री नंबर पर कॉल करके भी ले पाएंगे जानकारी

  • किसानों को एप संबंधी जानकारी देने के लिए टोल फ्री नंबर 18001213203 भी शुरू किया गया है।
  • E-ganna गन्ना पर्ची के बारे में कोई जानकारी लेने के लिए किसान टोल फ्री नंबर 18001035823 नंबर पर भी फोन कर सकते हैं।

e Ganna App में गन्ना पर्ची एवं कैलेंडर देखें

up e ganna app

Download UP E Ganna App

सभी गन्ना किसान इस एप्लिकेशन से अपने गन्ना आपूर्ति के संबंध में सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। सभी जानकारी आधिकारिक गन्ना विभाग डेटाबेस से प्रदान की जाती है और इसलिए 100% प्रामाणिक है।

किसान का कैलेंडर और खरीद आदेश केवल इसी डेटाबेस से उत्पन्न होते हैं। ऐप को लेटेस्ट वर्शन में अपडेट करें। version 2.4 के लिए समर्थन तकनीकी कारणों से बंद कर दिया गया है।

  • इसे आप अपने मोबाइल फ़ोन के गूगल प्लेस्टोर से डाउनलोड कर सकते है।
  • आप सबसे पहले Google PlayStore पर जाएँ।
  • Searach के ऑप्शन पर क्लिक कर e Ganna App सर्च करें।
  • आपके सामने Install का बटन आएगा इस पर क्लिक करें।
  • कुछ समय में यह एप्प आपके फ़ोन में इनस्टॉल हो जाएगा।

e Ganna App Change Language

  • जब आप इस एप्प को ओपन करते है , तो आपको कई ऑप्शन वाला Welcome पेज मिलता है।
  • इस Welcome टैब पर आपको Change Language का ऑप्शन मिलेगा।
  • आप इस पर क्लिक करें।
  • अब आपको Hindi एवं English में से हिंदी पर क्लिक करें।
  • अब आपके इस Ganna App की भाषा हिंदी हो जायेगी।

e Ganna App Add New Farmer

  • आप इस एप्लीकेशन का उपयोग कर किसान (अपने आपको ) जोड़ सकते है।
  • इसके लिए आपको Welcome टैब पर Add Farmer (किसान जोड़े) के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • अब आपके सामने Add Farmer का टैब खुल आएगा।
  • इस तब में आपको किसान का UGC Code दर्ज करें।
  • अब किसान जोड़े (Add Farmer) के बटन पर क्लिक करें।
UGC - Unique Ganna Code यह एक यूनिक गन्ना कोड है , जो उत्तर प्रदेश किसानो को दिया जाता है। यह 16 अंको की एक यूनिक कोड है। 

e Ganna App Ganna Parchi Calendar

यदि आप अपने मोबाइल ई गन्ना एप्लीकेशन के द्वारा पर्ची एवं कैलेंडर देखना चाहते है , तो आपको सबसे पहले किसान जोड़ना होगा। इसके बाद ही आप विभिन्न सेवा पा सकते है।

Add By Farmer Code

add farmer e ganna app
  • जब आप एप्लीकेशन पेन करते है , तो आप दो तरीके से एक किसान को जोड़ सकते है।
    • Unique Ganna Code (UGC Code )
    • Farmer Code
  • यदि आप के पास UGC कोड नहीं है , इस स्तिथि में आप Select District पर क्लीक कर Farmer Code द्वारा भी अपने आपको जोड़ सकते है।
  • इसके लिए आपको Village Code की भी आवश्यकता पड़ सकती है।

Add By Name

  • आप किसान का नाम सर्च कर के भी e ganna app से जुड़ सकते है।
  • सबसे पहले एप्प को ओपन करें।
  • किसान जोड़े के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपको Select District के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद Search By Name पर क्लिक करना है।
  • अब आपको निम्न जानकारी भरनी है।
    • ग्राम का नाम (ग्राम कोड|ग्राम का नाम )
    • फैक्ट्री का नाम
    • किसान का नाम
  • जैसे ही आप किसान का नाम सेलेक्ट करते है , आपके सामने एक पुष्टि पेज खुल आता है।
  • आप सभी जानकारी को धयान से पढ़कर पुष्टि करें के बटन पर क्लिक करें।
  • इस प्रकार आप e ganna parchi calendar के लिए जुड़ जाते है।

e Ganna Parchi & Calendar

जब आप आप किसान को ई गन्ना एप्प में जोड़ते है , तो आपको आपको विभिन्न जानकारी प्राप्त होती है।

किसान जानकारी

  • किसान का नाम
  • ग्राम , जिला
  • स. केंद्र , फैक्ट्री का नाम
  • एस मोड ( उदा. Trolley-27 )
  • मोबाइल नंबर
  • खता नंबर

ई गन्ना कैलेंडर विवरण

  • गन्ना क्षेत्रफल (हेक्टर)
  • निर्धारित गन्ना क्षेत्रफल
  • बेसिक कोटा
  • कुल सट्टा
  • कुल पर्ची

ई गन्ना रशीद विवरण

  • कुल जारी पर्ची
  • कुल तुली पर्ची
  • ख़ारिज पर्ची
  • रद्द
  • आपूर्ति के लिए मान्य
  • अगेती पक्ष/दिन
  • सामान्य-पक्ष/दिन

ई गन्ना तौल विवरण

  • कुल निर्गत मिल परचा
  • कुल गन्ना वजन
  • एवं कुल राशि (रकम)
  • अंतिम सप्लायी की तिथि
  • अंतिम परचा वजन

ई गन्ना भुगतान विवरण

  • कुल भुगतान राशि
  • अंतिम भुगतान तिथि
  • राशि
  • बैंक का नाम
  • शेष कर्ज राशि
  • कर्ज कटौती राशि

Leave a Comment

error: Content is protected !!
YouTube