PM Shri Yojana 2022-23: पीएम श्री स्कूल गेम चेंजर है (जाने विशेषता)

Rate this post

भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने भारत में स्कूली शिक्षा को लेकर एक नई पहल शुरू की है। प्रधानमंत्री ने शिक्षक दिवस (5 September 2022) के अवसर पर PM SHRI Yojana की शुरुआत की है।

सरकार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (National Education Policy-NEP2020) के लिए SHRI Yojana शुरू की है। यह योजना पूरे भारत में 14,500 स्कूलों को कवर करेगी।

केंद्र सरकार इस योजना को 100% प्रायोजित कर रही है। जो केंद्र सरकार के साथ सभी राज्यों को आमंत्रित कर रही है।

केंद्र और राज्य सरकारें सभी चयनित स्कूलों को उनके फर्नीचर, संरचना और अन्य विवरणों में सुधार के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेंगी।

आज हम इस योजना पर चर्चा करेंगे और नीचे योजना की अधिक जानकारी जानेंगे।

Introduction To PM SHRI Yojana 2022-23

UDISE Report 2022-23 के अनुसार भारत में कुल 14.89 लाख विद्यालय है जिसमे से 10.22 लाख सरकारी विद्यालय है।

इन विद्यालयों के सुधार एवं विकास के साथ छात्रों का विकास जुड़ा है, इसलिए सरकार द्वारा Pradhan Mantri SHRI (ScHools for Rising India) Yojana का प्रारम्भ किया गया है।

PM SHRI Yojana यह उभरते भारत के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। श्री नरेंद्र मोदी ने 5 सितंबर 2022 को इस योजना की शुरुआत की तथा Tweet कर योजान की जानकारी दी।

इस योजना के अंतर्गत National Education Policy 2020 के अनुसार सरकारी स्कूलों का विकास किया जा रहा है।

सभी केंद्रीय विद्यालयों यानी KVS, NVS और अन्य राज्य/संघ राज्य स्तर के स्कूलों और स्थानीय निकायों के स्कूलों को इस योजना से लाभ मिलेगा।

NEP के द्वारा अनुभवात्मक शिक्षा को सीखने का सुझाव दिया गया है, जो बच्चों के समग्र और सर्वांगीण विकास (Holistic Development) प्रदान करता है।

PM SHRI भारत में इन विशेषताओं के निहितार्थ की एक क्रिया है।

मोदी जी ने कहा है कि भारत के 14500 स्कूलों में लगभग 20 लाख से अधिक छात्रों को इस योजना का सीधा लाभ मिलेगा।

भारत में NEP को 2027 तक लागू करने के लिए इसे हम पायलट प्रोजेक्ट कह सकते हैं।

सरकार ने इस योजना को लागू करने के लिए 5 साल के लिए गाइडलाइन तैयार की है।

The Objective Of The PM SHRI Yojana (पीएम श्री योजना का उद्देश्य)

PM SHRI Yojana 2022-23 के मुख्य उद्देश्यों को हम नीचे बुलेट में सूचीबद्ध कर रहे हैं। आप इन्हें पढ़ सकते हैं और PM Shri School के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

  • National Education Policy के गाइड लाइन को पूरे भारत में लागू करें।
  • अगले 10 से 15 वर्षों के लिए Educational Institutes का मार्गदर्शन करने के लिए NEP तैयार की गई है।
  • यह योजना कार्यान्वयन की दिशा में पहले कदमों में से एक है।
  • सरकार विभिन्न नए इंटरैक्टिव तरीकों का पालन करके स्कूल में छात्रों के समग्र विकास का लक्ष्य रख रही है।
  • जैसे अनुभवी अधिगम, खोज उन्मुख अधिगम और अन्य शिक्षार्थी-केंद्रित दृष्टिकोण।
  • स्कूलों में खिलाड़ी तैयार करें। हम आजकल विभिन्न खिलाड़ियों के बारे में समाचार देख रहे हैं जो भारत के लिए पदक जीत रहे हैं।
  • शिक्षा प्रणाली सीधे परिसर में खेल गतिविधियों का समर्थन नहीं कर रही थी। लेकिन अब वह खेलों पर भी ध्यान देगी।
  • सभी विद्यालयों में Technical Base Learning की स्थापना करें।
  • यह योजना स्कूल के बुनियादी ढांचे (Infrastructure) में सुधार करेगी और इसे संशोधित करेगी।
  • क्लास रूम को स्मार्ट क्लास के कांसेप्ट से चलाये जाएंगे।
  • शिक्षक डिजिटल बोर्ड और प्रोजेक्टर के माध्यम से छात्रों को पढ़ाएंगे और छात्रों को पढ़ाने के लिए विभिन्न ICT तकनीकों का उपयोग करेंगे।
  • यह एक तकनीकी युग है भारत पूरी दुनिया में टेक्नोलॉजी क्षेत्र में सेवा प्रदाताओं का एक केंद्र है।
  • वे छात्रों को तैयार करना चाहते हैं जो टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में क्रांति लाते हैं।
  • ये PM Shri School भारत में IIT या अन्य तकनीकी संस्थानों के लिए Brilliant Students तैयार करने में मदद करेंगे।

Key Features Of PM SHRI Yojana (पीएम श्री विद्यालय की विशेषता)

  • NEP 2020 के GuideLine को लागू कर PM Shri Schools अन्य स्कूलों के लिए रोल मॉडल बनेंगे।
  • स्कूल फैसिलिटी सुधरेगी: स्वच्छ शौचालय, पेयजल, बिजली के लिए सोलर एनर्जी, LED लाइट, Eco-Friendly क्लासरूम आदि।
  • वे अपने स्कूलों में एक Waste Management System तैयार किया जाएगा।
  • खेती, जल संरक्षण आदि के लिए पारंपरिक प्रथाओं को सक्षम बनाये जाएंगे।
  • प्लास्टिक मुक्त कैंपस भी बनाये जाएंगे ।
  • इन स्कूलों में शिक्षार्थी केंद्र शैक्षणिक दृष्टिकोण का उपयोग किया जाएगा। जैसे कि छात्र करके सीखकर सीखेंगे, खोज उन्मुख विधि और शिक्षण का अनुभव-आधारित तरीका।
  • ये अभ्यास छात्रों के समग्र विकास को सक्षम करेंगे।
  • शिक्षक सीखने के परिणामों (Learning Outcome) पर ध्यान केंद्रित करेंगे।
  • वे छात्रों को उनके वैचारिक ज्ञान के साथ-साथ वास्तविक दुनिया में उनके ज्ञान के Implement से मूल्यांकन करेंगे।
  • Job Oriented तथा Relevant Curriculumn तैयार किये जाएंगे।
  • छात्रों को पहले से ही कोडिंग, प्रोग्रामिंग, स्किल, बिज़नेस एवं उद्यमिता की जानकारी दी जायेगी।
  • स्कूलों को लाइब्रेरी, स्पोर्ट्स, लैब्स और स्कूलों के लिए अन्य अनिवार्य कार्यों के विकास और रखरखाव के लिए वार्षिक अनुदान प्राप्त होगा।
  • PM Shree Schools में साइंस लैब, मैटलैब, वोकेशनल लैब, ICT लैब, स्मार्ट बोर्ड, स्मार्ट क्लास, डिजिटल स्मार्ट लाइब्रेरी, साइंस किट, मैथ्स किट आदि होंगे।

Implementation Of PM SHRI School (किस तरह चुने जाएंगे ये पीएम श्री स्कूल)

कैबिनेट ने 7 सितंबर 2022 को पीएम श्री पर सफलतापूर्वक बैठक की। बैठक के अनुसार विद्यालयों में इस योजना को लागू करने के लिए तीन अध्ययन हैं जो निम्नलिखित हैं:

प्रथम चरण

  • इस चरण में केंद्र सरकार और राज्य सरकार पीएम श्री के Memorandum of understanding (MoU) पर हस्ताक्षर करेंगी।
  • दोनों प्राधिकरण PM Shri Schools के माध्यम से राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) को लागू करने की रणनीति तय करेंगे।

द्वितीय चरण

  • राज्य इस योजना के लिए अपने बेंचमार्क के अनुसार उपयुक्त स्कूलों की पहचान करेंगे।
  • वे UDISE + School Data के माध्यम से इनका संचालन करेंगे।

तृतीय चरण

  • चरण 2 में UDISE+ Data से चयनित सभी विद्यालय इस चरण में भाग लेंगे।
  • राज्य KVS/JNV पात्रता मानदंडों को पूरा करने के अनुसार PM Shri के कार्यान्वयन के लिए चयनित स्कूलों का निर्णय लेंगे।
  • अंत में एक विशेष समिति स्कूल में पीएम श्री योजना में आवेदन करने के लिए वांछित स्कूल का चुनाव करेगी।
  • पूरे भारत में हर ब्लॉक में दो स्कूल होंगे। इस योजना से 18 लाख से अधिक छात्रों को सीधा लाभ मिलेगा।

PM Narendra Modi’s Tweet पीएम नरेंद्र मोदी का ट्वीट

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 सितंबर 2022 को 3 ट्वीट किए।

हम आपको इस योजना के बारे में प्रधान मंत्री के आधिकारिक बयान के साथ प्रदान करने के लिए नीचे दिए गए अनुभाग में सभी ट्वीट सूचीबद्ध कर रहे हैं।

“आज, #TeachersDay पर मुझे एक नई पहल की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है - प्रधान मंत्री स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया (PM-SHRI) योजना के तहत पूरे भारत में 14,500 स्कूलों का विकास और उन्नयन। ये मॉडल स्कूल बनेंगे जो एनईपी की पूरी भावना को समाहित करेंगे।”
-Narendra Modi Tweet

PM SHRI Yojana Budget पीएम श्री योजना के लिए बजट तय

सरकार ने इस योजना को 5 साल के लिए लॉन्च किया है। यह एक केंद्र प्रायोजित योजना है।

केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों इस योजना को अपने राज्य में लागू करने में अपना योगदान देंगे।

पीएम श्री योजना इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए लगभग 27360 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

केंद्र सरकार 18128 करोड़ का योगदान देगी और दूसरा हिस्सा राज्य सरकार द्वारा खर्च किया जाएगा।

योजना ने अगले पांच साल 2022-2027 के लिए बजट तय किया है।

FAQs PM SHRI

PM Shri का Full Form क्या है?

PM SHRI का full form यह है: Pradhan Mantri ScHool for Rising India.

पीएम श्री योजना को कब प्रारम्भ किया गया?

पीएम श्री योजना को 5 सितम्बर 2022 को प्रारम्भ किया गया।

इस योजना के अंतर्गत कितने विद्यालय को लाभ प्रदान किया जाएगा?

योजना केअंतर्गत देश के 10 लाख सरकारी विद्यालयों में से 14500 विद्यालयों को चुना जाएगा एवं लाभ प्रदान किया जाएगा।

Leave a Comment

X
Ladli Bahan Yojana 2023: महिलाओ को 5 साल तक हर महीने 1000 रूपए PM Kisan Beneficiary Status Mobile Number से चेक करें [2023] Budget 2023-2024: महिला सम्मान बचत पत्र योजना क्या है? PM Kisan Yojana की 13वी क़िस्त आ रही है, जानें आप कैसे अपना रु 2000 चेक करें UP Kisan Karj Mafi News: उत्तर प्रदेश किसान कर्ज माफ़ी लिस्ट जारी