चारधाम यात्रा 2023 ऑनलाइन पंजीकरण Chardham Yatra e-Pass

5/5 - (1 vote)

क्या आप How To Char Dham Yatra Registration 2023 की खोज कर रहे हैं? यदि हाँ तो आप सही जगह पर हैं। हम अपने पाठकों के लिए इस प्रकार के समाधान के बारे में लिखते रहे हैं।

चार धाम यात्रा पंजीकरण April 2023 से शुरू हो रहा है। सुनिश्चित करें कि आपने पंजीकरण से पहले योजना बनाई है और यात्रा के लिए तैयार हैं।

इस पोस्ट में, हम आपको चार धाम यात्रा उत्तराखंड के बारे में पूरी गाइड के माध्यम से इसके लिए दिशा-निर्देशों के लिए ई-पास दर्ज करने से लेकर चलेंगे।

यदि आप एक पर्यटक हैं, तीर्थयात्री हैं, या भगवान के बारे में कुछ भक्ति सीखने जा रहे हैं तो यह चार धाम यात्रा गाइड आपके लिए है।

Char Dham Yatra Uttarakhand 2023

उत्तराखंड में चार धाम यात्रा भारत में सबसे सम्मानित और लोकप्रिय तीर्थ यात्राओं में से एक है। चारधाम यात्रा को बनाने वाले चार पवित्र मंदिर यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ हैं।

ये तीर्थस्थल सुंदर हिमालय के पहाड़ों में स्थित हैं, जो घने हरे जंगलों, कलकल करती नदियों और बर्फ से ढके पर्वतों से घिरे हुए हैं।

चारधाम यात्रा आस्था, भक्ति और आध्यात्मिक जागृति की यात्रा है, जो हर साल दुनिया भर से लाखों तीर्थयात्रियों को आकर्षित करती है।

Char dham Yatra Tour Plan

#1: Yamunotri

चारधाम यात्रा का पहला तीर्थ यमुनोत्री समुद्र तल से 3,291 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

यह यमुना नदी का स्रोत है। इसे पूज्य गंगा नदी की बहन के रूप में जाना जाता है।

यमुनोत्री की यात्रा एक चुनौतीपूर्ण है, लेकिन क्षेत्र की आश्चर्यजनक प्राकृतिक सुंदरता प्रयास के लायक है।

यमुनोत्री मंदिर एक छोटी और सरल संरचना है, लेकिन यह सभी आगंतुकों के दिलों को अपनी गहन आध्यात्मिक ऊर्जा से छूता है।

#2: Gangotri

गंगोत्री चारधाम यात्रा का दूसरा तीर्थ है, जो समुद्र तल से 3,042 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

यह पवित्र गंगा नदी का स्रोत है, जिसे भारत में सभी नदियों की माँ माना जाता है।

गंगोत्री मंदिर एक शानदार संरचना है, जो सफेद संगमरमर से बना है, और जटिल नक्काशी और मूर्तियों से सजाया गया है।

ऊबड़-खाबड़ पहाड़ों से होकर बहती गंगा नदी का निर्मल सौन्दर्य एक ऐसा दृश्य है जो सभी आगंतुकों के दिलों पर एक अमिट छाप छोड़ जाता है।

#3: Kedarnath

केदारनाथ चारधाम यात्रा का तीसरा तीर्थस्थल है, जो समुद्र तल से 3,583 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

यह पहुंचने के लिए सबसे चुनौतीपूर्ण तीर्थस्थलों में से एक है, जिसके लिए खड़ी और चट्टानी इलाके के माध्यम से कई किलोमीटर की चढ़ाई की आवश्यकता होती है।

केदारनाथ मंदिर एक राजसी संरचना है, जो पत्थर और लकड़ी से बना है, और हिमालय की लुभावनी सुंदरता से घिरा हुआ है।

मंदिर हिंदू पौराणिक कथाओं में सबसे सम्मानित देवताओं में से एक भगवान शिव को समर्पित है।

#4: Badrinath

बद्रीनाथ चारधाम यात्रा का अंतिम मंदिर है, जो समुद्र तल से 3,133 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

यह चारों में से सबसे अधिक देखा जाने वाला और लोकप्रिय मंदिर है, जो हर साल लाखों तीर्थयात्रियों को आकर्षित करता है।

बद्रीनाथ मंदिर एक भव्य संरचना है, जो पत्थर और लकड़ी से बनी है, और सुंदर नक्काशी और मूर्तियों से सुशोभित है।

यह हिंदू पौराणिक कथाओं में सबसे महत्वपूर्ण देवताओं में से एक भगवान विष्णु को समर्पित है।

Char Dham Yatra Important Time & Date 2023

यदि आपने चारधाम यात्रा: Chardham Yatra: Yamunotri, Gangotri, Kedarnath, and Badrinath जाने की योजना बनाई है तो आपको इसके लिए महत्वपूर्ण समय और तिथि अवश्य जाननी चाहिए।

यहां चारधाम के खुलने, बंद होने और पंजीकरण की महत्वपूर्ण तारीखें दी गई हैं।

  • Char Dham Yatra Registration:
    • यात्रा के लिए पंजीकरण 22nd April 2023 से शुरू हो रहा है।
  • Yamunotri Opening & Closing:
    • यमुनोत्री मंदिर 22 अप्रैल 2023 को खुलेगा। एक संक्षिप्त समारोह के बाद समापन तिथि 14 नवंबर 2023 होगी।
  • Gangotri Opening & Closing:
    • अक्षय तृतीया पर, श्री गंगोत्री मंदिर वर्ष के लिए खुलता है। इसलिए गंगोत्री यात्रा 2023 22 अप्रैल से शुरू होगी। गंगोत्री यात्रा 13 नवंबर 2023 को समाप्त होगी।
  • Kedarnath Opening & Closing:
    • केदारनाथ मंदिर 6 मई 2023 को खुलेगा और 24 अक्टूबर 2023 को बंद होगा। (अस्थायी)
  • Badrinath Opening & Closing:
    • बद्रीनाथ मंदिर 27 अप्रैल 2023 को सुबह 07:10 बजे खुलेगा और 21 नवंबर 2023 को बंद होगा।
Char Dham YatraDate & Time
RegistrationApril 2023
Yamunotri Opening & Closing22 Apr 2023 (opening) and 14 Nov 2023 (closing)
Gangotri Opening & Closing22 Apr 2023 (opening) and 13 Nov 2023 (closing)
Kedarnath Opening & Closing6th May 2023 (opening) and 24th Oct 2023 (closing)
Badrinath Opening & Closing27th Apr 2023 (opening) and 2st Nov 2023 (closing)
The dates are tentative

Char Dham Yatra Registration Eligibility 2023 (Guidelines)

उत्तराखंड, भारत में चारधाम यात्रा के लिए कोई विशिष्ट पात्रता मानदंड नहीं हैं। जो कोई भी तीर्थ यात्रा करना चाहता है, वह ऐसा कर सकता है।

हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यात्रा में काफी मात्रा में पैदल और ट्रेकिंग शामिल है, और इसलिए, तीर्थयात्रियों को शारीरिक रूप से फिट होना चाहिए और यात्रा करने में सक्षम होना चाहिए।

इस यात्रा में असमान और खड़ी चढ़ाई पर चलना शामिल है, जो बुजुर्ग लोगों या स्वास्थ्य की स्थिति वाले लोगों के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है। यात्रा शुरू करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना उचित है।

इसके अतिरिक्त, यात्रा में ऊंचाई वाले क्षेत्रों का दौरा करना शामिल है, और इसलिए तीर्थयात्रियों को मौसम और ऊंचाई में बदलाव के लिए तैयार रहना चाहिए।

यात्रा के लिए गर्म कपड़े, रेन गियर और अन्य आवश्यक सामान ले जाने की सलाह दी जाती है।

इसके अलावा, चल रहे COVID-19 महामारी के कारण, उत्तराखंड सरकार ने कुछ दिशानिर्देशों और प्रोटोकॉल की घोषणा की है, जिनका तीर्थयात्रियों को पालन करने की आवश्यकता है।

चारधाम तीर्थस्थलों पर जाने वाले सभी तीर्थयात्रियों के लिए एक नकारात्मक आरटी-पीसीआर परीक्षण रिपोर्ट अनिवार्य है।

इसके अतिरिक्त, यात्रा के दौरान सभी COVID-19 सुरक्षा प्रोटोकॉल और दिशानिर्देशों का पालन करना महत्वपूर्ण है, जैसे कि मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना और बड़ी सभाओं से बचना।

संक्षेप में, चारधाम यात्रा के लिए कोई सख्त पात्रता मानदंड नहीं हैं, लेकिन शारीरिक रूप से फिट रहने और यात्रा के लिए तैयार रहने की सलाह दी जाती है, विशेष रूप से चल रही महामारी के दौरान।

Char Dham Yatra Registration Free Online कैसे करे @registrationandtouristcare.uk.gov.in

यहां चरण दर चरण प्रक्रियाएं दी गई हैं ताकि आप खुद को, अपने परिवार को, या एक ऑपरेटर के रूप में @registrationandtouristcare.uk.gov.in पर पंजीकृत कर सकें:

Step1: Vist registrationandtouristcare.uk.gov.in and Register

  • सबसे पहले आप registration for char dham yatra @registrationandtouristcare.uk.gov.in पर जाए।
  • होमपेज पर आप Register/Login. पर क्लिक करे। (you can see it below)
char dham yatra official website
  • अब आप Registration page पर पहुंचेंगे।
  • यहाँ आपको Sign Up करना होगा।
  • इसके लिए आप अपना नाम एवं मोबाइल नंबर दर्ज कर कोई एक विकल्प चुने:
    • Tour Operator
    • Individual (self)
    • Family
  • अब आप एक Strong Password बनाये एवं पुनः दर्ज कर Confirm करे।
  • अंत में Sign Up पर क्लिक करे।

Step2: Login and Plan Your Tour

  • सफलतापूर्वक Sign Up के बाद आप Login करे।
  • इसके लिए आपको अपना Mobile Number एवं Password दर्ज करना होगा।
  • Login के बाद आप Personal Dashboard में प्रवेश करेंगे।
  • यहाँ आप Plan/Manage Tour ऑप्शन पर क्लिक करे।
  • Plan Your Tour पेज ओपन होगा।
  • इस Plan Your Tour पर आपको निम्नलिखित ऑप्शन सेलेक्ट कर सभी फील्ड भरने होंगे:
    • Tour type
    • Your Tour Name
    • Tour Duration (Date of entering/Leaving the state Uttarakhand)
    • Enter the number of tourists
    • Select the destination and date (You can add more)
  • अब आपको Save पर क्लिक करना है।
  • अब आपका Detail Save हो गया है।
  • इसके बाद आप अपना Registration Form भरे।

Step3: Add pilgrim and Complete Registration Form

  • अब आपको Dashboard में Tour Plan के निचे Add Pilgrim पर क्लिक करना है।
  • आपका Registration Form ओपन होगा।
  • इस Registration Form में आपके Tour Plan में चुने गए Destination डिफ़ॉल्ट सेलेक्ट रहेंगे।
  • यहाँ आपको निम्न सभी जानकारी प्रदान करनी होगी तथा आवश्यक दस्तावेज अपलोड करना होगा।
    • Full Name, Age, Gender
    • Mobile Number, Email
    • Country, State, City, District (Full address)
    • Emergency contact person information
    • Mode of travel for dham
    • Upload a passport-size photo and take a photo
    • Select Identity type and upload it
    • Prove as covid-19 vaccinator
  • अंत में you have to agree to the terms and conditions को सही कर Submit करना होगा।
  • अब आपको एक SMS प्राप्त होगा. {** इसे संभाल कर रखे। यह आपके यात्रा दौरान Verification के लिए पूछा जाएगा।
  • यदि आप अधिक सदस्यों को जोड़ना चाहते है तो आप पुनः Dashboard से यह प्रक्रिया दोहरा सकते है।

Download Char Dham Registration Letter (e-Pass)

Step1: Login कर Dashboard पर आये

  • अब आपको पंजीकरण पत्र डाउनलोड करना होगा जो अनिवार्य और बहुत महत्वपूर्ण है।
  • सफल पंजीकरण के बाद, आप डैशबोर्ड से अपना ई-पास डाउनलोड कर सकते हैं।
  • डाउनलोड ई-पास/सर्टिफिकेट चुनें और फिर डाउनलोड पीडीएफ पर क्लिक करें।
  • सत्यापन के लिए पत्र में एक क्यूआर कोड के साथ सभी महत्वपूर्ण जानकारी है।
  • कृपया अंतिम चरण पढ़ें।

Final step: Important Note and Download Yatri Certificate

  • चार धाम यात्रा उत्तराखंड की अपनी यात्रा के दौरान, आपको अपने मोबाइल डिवाइस पर प्राप्त यात्रा पंजीकरण पत्र या एसएमएस अवश्य रखना चाहिए।
  • यात्री द्वारा उस स्थान पर जाने से पहले यात्रीमित्र SMS या Registration Letter (QR कोड) की पुष्टि करेगा।
  • चारधाम में सत्यापित होने के बाद, आपको अपने लॉगिन में एक Yatri Certificate भी प्राप्त होगा।
  • फिर से वेबसाइट पर जाएं, लॉग इन करें और यात्री प्रमाणपत्र डाउनलोड करें।

पंजीकरण प्रक्रिया के अंत में, मेरा काम पूरा हो गया है। अब आप 2023 में चारधाम के लिए बुनियादी टूर गाइड नीचे देख सकते हैं।

Our Sabarimala Virtual Q Slot Booking Guide has provided solutions to 50,000 people who have visited our website during that time.

Char Dham Yatra 2023 के लिए क्या-क्या तैयार करे?

यदि आप चार धाम यात्रा की यात्रा करना चाहते हैं तो बहुत सारी एजेंसियां हैं जो अलग-अलग पैकेज राशि लेती हैं।

लेकिन आप लागत कम कर सकते हैं और सही तरीके से योजना बनाकर खुद भ्रमण कर सकते हैं। यहां कुछ टिप्स और गाइड दिए गए हैं जिनका पालन करके आप चार धाम यात्रा पर जा सकते हैं।

सही समय चुनें:

  • चारधाम यात्रा आमतौर पर मई में शुरू होती है और अक्टूबर में समाप्त होती है।
  • घूमने का सबसे अच्छा समय मई से जून और सितंबर से अक्टूबर तक है जब मौसम खुशनुमा होता है और भीड़ कम होती है।

Prepare Yourself Physically:

  • चारधाम यात्रा में ट्रेकिंग, पैदल चलना और चढ़ाई शामिल है, इसलिए खुद को शारीरिक रूप से तैयार करना महत्वपूर्ण है।
  • अपनी सहनशक्ति और शक्ति को बेहतर बनाने के लिए योग और ध्यान का अभ्यास और Exercise शुरू करें।

यात्रा व्यवस्था करें:

  • आप पैकेज टूर बुक करके या कार या टैक्सी किराए पर लेकर यात्रा की व्यवस्था कर सकते हैं।
  • निकटतम हवाई अड्डा देहरादून में जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है, और निकटतम रेलवे स्टेशन हरिद्वार है।
  • वहां से, आप यात्रा के शुरुआती बिंदु तक पहुंचने के लिए कार या टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

उचित रूप से पैक करें:

  • चारधाम यात्रा में उच्च ऊंचाई की यात्रा शामिल है, इसलिए गर्म जैकेट, ऊनी मोजे, दस्ताने और टोपी सहित उपयुक्त कपड़े पैक करना महत्वपूर्ण है।
  • इसके अलावा, ट्रेकिंग शूज़, रेनकोट और बैकपैक की एक अच्छी जोड़ी लें।

अपने यात्रा कार्यक्रम की योजना बनाएं:

  • चार धाम यात्रा के लिए अपने यात्रा कार्यक्रम की योजना पहले से बना लें, और चारों तीर्थों के दर्शन करना सुनिश्चित करें।
  • अग्रिम में आवास बुक करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि आवास विकल्प क्षेत्र में सीमित हैं।

स्थानीय रीति-रिवाजों और परंपराओं का सम्मान करें:

  • The Chardham Yatra is a sacred pilgrimage, and it is important to respect the local customs and traditions.
  • Follow the dress code, do not litter, and avoid smoking or drinking in public places.

Char Dham Yatra 2023 के लिए Best Route क्या है?

चारधाम यात्रा की यात्रा का सबसे अच्छा मार्ग यात्रा के शुरुआती बिंदु, परिवहन के साधन और वर्ष के समय पर निर्भर करता है।

Char Dham Yatra 2023 के लिए Best Route

  1. Haridwar – Yamunotri – Gangotri – Kedarnath – Badrinath – Haridwar:
    • चारधाम यात्रा के लिए यह सबसे लोकप्रिय मार्ग है। प्रारंभिक बिंदु हरिद्वार है, जो रेल और सड़क मार्ग से भारत के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।
    • हरिद्वार से यात्रा यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ को इसी क्रम में कवर करती है।
  2. Delhi – Haridwar – Yamunotri – Gangotri – Kedarnath – Badrinath – Delhi:
    • यह मार्ग दिल्ली से शुरू होता है, जो भारत के प्रमुख शहरों से हवाई, रेल और सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है।
    • इस क्रम में यात्रा में हरिद्वार, यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ शामिल हैं।
  3. Dehradun – Yamunotri – Gangotri – Kedarnath – Badrinath – Dehradun:
    • यह मार्ग देहरादून से शुरू होता है, जो हवाई, रेल और सड़क मार्ग से भारत के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।
    • इस क्रम में यात्रा यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ को कवर करती है।
  4. Rishikesh – Yamunotri – Gangotri – Kedarnath – Badrinath – Rishikesh:
    • यह मार्ग ऋषिकेश से शुरू होता है, जो रेल और सड़क मार्ग से भारत के प्रमुख शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।
    • इस क्रम में यात्रा यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ को कवर करती है।

चारधाम यात्रा की यात्रा का सबसे अच्छा समय मई से जून और सितंबर से अक्टूबर तक है। इस समय के दौरान, मौसम सुहावना होता है, और सड़कें अच्छी स्थिति में होती हैं।

दौरे की अग्रिम योजना बनाना और आवास बुक करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि क्षेत्र में आवास विकल्प सीमित हैं

FAQs For Chard Dham Yatra

इस वर्ष चार धाम यात्रा पंजीकरण की तिथि क्या है?

इस साल चार धाम यात्रा का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अप्रैल 2023 से शुरू हो रहा है।

चारधाम पंजीकरण के लिए आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

It is @registrationandtouristcare.uk.gov.in

चारधाम यात्रा के पंजीकरण के लिए कितना रकम लगता है?

चारधाम यात्रा के पंजीकरण के लिए कोई रकम नहीं लगता है। यह पूरी तरह निशुल्क है।

Leave a Comment

X
Ladli Bahan Yojana 2023: महिलाओ को 5 साल तक हर महीने 1000 रूपए PM Kisan Beneficiary Status Mobile Number से चेक करें [2023] Budget 2023-2024: महिला सम्मान बचत पत्र योजना क्या है? PM Kisan Yojana की 13वी क़िस्त आ रही है, जानें आप कैसे अपना रु 2000 चेक करें UP Kisan Karj Mafi News: उत्तर प्रदेश किसान कर्ज माफ़ी लिस्ट जारी